No icon

हत्या में वांछित 25 हजार के इनामी पूर्व सांसद व लिकर किंग जवाहर जायसवाल को एसटीएफ ने दबोचा

प्रखर वाराणसी । हत्या के मामले में वांछित पूर्व सांसद व वाराणसी के लिकर किंग जवाहर जायसवाल को आखिरकार इतने दिनों बाद एसटीएफ ने पकड़ ही लिया।  बताया जा रहा है कि एसटीएफ ने 25,000 के इनामी जवाहर जायसवाल को धर दबोचा है । जानकारी के अनुसार काफी दिनों से फरार चल रहे पूर्व सपा सांसद जवाहर जयसवाल को यूपी एसटीएफ ने मध्य प्रदेश पुलिस के सहयोग से मध्य प्रदेश के दमोह जिले से गिरफ्तार किया है । बता दें कि हत्या के आरोपी पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल व उनके पुत्र गौरव जयसवाल थे । जिनमें जवाहर जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है।  लेकिन गौरव अभी भी फरार चल रहा है । बताया जाता है कि वाराणसी का अर्दली बाजार इलाके में बैंक मैनेजर की हत्या हो गई थी , जिसमें पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल व उनके पुत्र गौरव जयसवाल को पुलिस ने फरार घोषित करते हुए 25 - 25 हजार का इनाम घोषित किया था । इसके अलावा दोनों के विरुद्ध कुछ दिन पहले लुकआउट नोटिस सर्कुलर भी जारी किया गया था।  लेकिन वाराणसी जोन की पुलिस के गिरफ्त से वह बाहर था । बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए । यह मामला एसटीएफ को सौंपा था , तब से यूपी एसटीएफ तलाश कर रही थी । आखिर तलाश पूरी होते हुए शुक्रवार की देर रात मध्य प्रदेश के दमोह जिले से जवाहर जायसवाल को उनके रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार कर लिया गया । इस मामले में एसपी दामोंह मध्य प्रदेश विवेक अग्रवाल से बात की गई तो उन्होंने बताया कि यूपी एसटीएफ ने हमारी पुलिस के साथ संयुक्त अभियान में दामोंह से किसानों का पैसा हजम करने और हत्या के मामले का निरुद्ध पूर्व सांसद जवाहर जायसवाल को उनके घर से गिरफ्तार किया गया है।  बता दें कि वाराणसी पुलिस को जवाहर जायसवाल और उनके पुत्र गौरव जयसवाल की तलाश हत्या के मामले में काफी दिनों से थी । वहीं दूसरी तरफ महाराजगंज पुलिस को गन्ना किसानों के बकाया को लेकर भी तलाश जारी थी। उक्त मामले में वाराणसी के एसएसपी यारों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जवाहर जायसवाल को मध्य प्रदेश से पकड़ा गया है लेकिन हमारे पास संपूर्ण जानकारी उपलब्ध नहीं है।

Comment