No icon

मछली शहर लोकसभा सीट आ सकती है बसपा के हिस्से!

प्रखर जौनपुर। लखनऊ में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती ने आपसी रजामंदी से 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है । इस ऐलान में सीटों के बंटवारे का फार्मूला यह तय किया गया है कि पिछले लोकसभा चुनाव में जिन सीटों पर जो पार्टी दूसरे पोजीशन पर रहेगी उसे वह सीट दे दी जाएगी।  ऐसे में 2014 के लोकसभा चुनाव में मछली शहर से विजई हुए प्रत्याशी रामचरित्र निषाद को 438210 मत  प्राप्त हुए थे। वहीं बसपा प्रत्याशी बी पी सरोज को 266055 मत प्राप्त हुए थे । वहीं सपा के प्रत्याशी तूफानी सरोज को 191387 मत प्राप्त हुए थे। बता दें कि तूफानी सरोज इसके पहले लगातार तीन बार सांसद भी रहे थे । ऐसे में मछली शहर लोक सभा सीट बसपा के हिस्से में जानी तय मानी जा रही है । सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बसपा इस बार भी बीपी सरोज पर दाव लगा सकती है। क्योंकि पिछले लोकसभा चुनाव में बीपी सरोज ने काफी मजबूती से चुनाव लड़ा था और चुनाव हारने के बाद भी मछली शहर संसदीय क्षेत्र में लगातार सक्रिय हैं । वहीं मछली शहर लोकसभा से बीजेपी रामचरित्र निषाद का विकल्प तलाश रही है। लेकिन यह भी माना जा रहा है कि इस बार भी बीजेपी रामचरित्र निषाद पर ही दांव लगाएगी। बता दें कि बीजेपी के स्थानीय कार्यकर्ता मछली शहर सांसद रामचरित्र निषाद से नाखुश बताया जा रहे हैं लगातार क्षेत्र की समस्याओं से दूर निषाद सिर्फ बड़े बड़े राजनीतिक मंच ऊपर ही नजर आते हैं । इसके बाद भी उन्ही की दावेदारी मजबूत मानी जा रही है।

Comment