ग़ाज़ीपुर- विदेश से आए लोगों की सूची तैयार कर रहा स्वास्थ्य विभाग

– सतर्क व जागरूक रहें, बचाव ही है कोरोना का इलाज

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोना वायरस जो पूरी तरीके से महामारी घोषित किया जा चुका है और इसकी श्रंखला को तोड़ने के लिए 22 मार्च को प्रधानमंत्री के आह्वान पर पूरे देश में जनता कर्फ्यू लगा कर लोगों ने एकता का परिचय दिया। वहीं स्वास्थ्य विभाग भी दूसरे देश से आने वाले व्यक्तियों की सूची तैयार कर रहा है जो शासन से प्राप्त हुई है। स्वास्थ्य विभाग उनके नाम पता और मोबाइल नंबर के द्वारा सत्यापित करने में लग गई हुई है जिससे उनके बारे में पता लगाकर उन्हें होम क्वारंटाइन किया जा सके।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जी.सी. मौर्य ने बताया कि शासन के द्वारा दूसरे देश से आने वाले लोगों की सूची प्राप्त हो चुकी है। उस सूची के आधार पर उन व्यक्तियों का नाम और पता उनके दिए गए मोबाइल नंबर के द्वारा सत्यापित कर एवं उनके स्वास्थ्य का हालचाल लेने के लिए सीएमओ ऑफिस के कॉल सेंटर/आईडीएसपी यूनिट में बैठे कार्मिकों के द्वारा जनपद के सभी प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजा जा रहा है। साथ ही उन्हें यह निर्देश भी दिया गया है कि पुलिस और प्रशासन का सहयोग लेते हुए उन व्यक्तियों को चिन्हित कर उन्हें होम क्वारंटाइन सुनिश्चित करें तथा स्वास्थ्य कर्मी प्रतिदिन इनके स्वास्थ्य की सूचना सीएमओ ऑफिस पर सुबह 10:30 बजे तक प्रेषित करें, जिससे कि 11:00 बजे तक उनकी रिपोर्ट शासन को भेजा जा सके। वहीं मोहम्दाबाद स्वास्थ्य केंद्र के बीपीएम संजीव ने बताया कि विदेश से आए हुए 5 लोगों को उनके घरों में आइसोलेट कर उनपर विभाग के द्वारा निगरानी रखी गई है। इसके अलावा इलाके में कोरोना वायरस से बचाव के लिए जागरूकता और ‘क्या करें-क्या ना करें’ के पंपलेट आदि का वितरण भी लगातार किया जा रहा है।
कोरोना से बचाव :
• हाथ को बार-बार साबुन और साफ पानी से धोएं
• सैनिटाइजर का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें, एक बार इस्तेमाल टिशूज़ को दोबारा इस्तेमाल न करें
• खांसते और छींकते वक्त टिशू का इस्तेमाल करें, टिशू न होने पर खांसते वक्त बाजू का इस्तेमाल करें
• सामने की ओर मुंह करके न छींके और न खांसे।
• बिना हाथ धोए अपनी आंख, नाक और मुंह को न छुएं।
• जो बीमार हो उनके सम्पर्क से बचने की कोशिश करें, संदिग्ध व्यक्ति से कम से कम 1 मीटर की दूरी रखें।
• हाथ मिलाने से बचें।
• जुकाम, गले में खरांस, बुखार और खांसी होने पर तुरंत डॉक्टर से मिलें।