ग़ाज़ीपुर- कोरोना वायरस के दृष्टिगत मुख्यमंत्री ने प्रदेश के समस्त व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ की वीडियो कांफ्रेंसिंग

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतुं मंगलवार को सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने प्रदेश के समस्त जनपदों के व्यापारिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ आज दोपहर 12ः30 बजे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस मौके पर कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी सभाकक्ष में जिलाअधिकारी ओ.पी. आर्य, पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह, मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्त, समस्त संबंधित अधिकारी एवं जनपद के व्यापार मंडल के पदाधिकारीगण एवं दवा व्यापारी संघ के पदाधिकारी उपस्थित थें। बी.सी. के माध्यम से मुख्यमंत्री ने कहा कि विदेशों में इस महामारी के चलते आपातकाल घोषित की गई है। हमारा प्रदेश सबसे बड़ी आबादी वाला प्रदेश होने के कारण अत्यंत संवेदनशील है। आपदा का समाधान हम सब मिलकर कर सके इस हेतु संवाद स्थापित की गई है। 22 मार्च 2020 को प्रधानमंत्री के अपील जनता कर्फ्यू में सब ने मिलकर सहयोग किया, जिसे डब्ल्यूएचओ द्वारा भारत सरकार के द्वारा कोरोना वायरस के खिलाफ की गई कार्रवाई की सराहना की गई। वैश्विक स्तर पर भी इसे पॉजिटिव तरीके से लिया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी व्यापारिक संगठनों एवं दवा व्यापारियों से इस आपदा में सहयोग की अपील की तथा एक टीम भावना के साथ मिलकर सहयोग देने को कहा उन्होंने 25, 26, 27 मार्च 2020 को पूरे प्रदेश में लॉक डाऊन का निर्णय लिया है एवं सहयोग की अपील की है। जिलाधिकारी ने पत्र प्रतिनिधियों से मुखातिब होते हुए कोरोना वायरस के इस प्रकोप को देखते हुए समस्त जनपद वासियों से सावधानी बरतने की अपील की। उन्होंने कहा कि लोग आपस मे मिलना, जुलना कम करें और अगले 3 दिनों तक अपने परिवार, अपने गांव, कस्बे, शहर, के लोगों के जीवन को बचाने के लिए अपने- अपने घरों में रहे। जो जहां है वही रहे। जनपद में अगले 3 दिनों तक जनता कर्फ्यू फिर से लागू रहेगी। इसमें किसी प्रकार की अफवाह फैलाने की कोशिश ना करें। हम सब को सावधानी बरतते हुए इस महामारी से निजात पाना जरूरी है। जनपद में लॉक डाउन के समय जरूरी सेवाएं जारी रहेगी। लोगों के खाने-पीने के सामान गली मोहल्ले तक पहुंचाए जाएंगे, अनावश्यक रूप से कोई भी व्यक्ति, दुकानों पर भीड़ न लगाएं। इसमें किसी प्रकार की घबराने की जरूरत नहीं है। धैर्य बनाए रखें एवं सजग रहे। जिलाधिकारी ने कहा कि गलत अफवाह फैलाने वालों पर प्रशासन की पैनी नजर रहेगी, उन्हे चिन्हित करते हुए जिला प्रशासन द्वारा उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। लॉक डाउन में सभी कार्यालय बंद रहेंगे। कोई भी व्यक्ति अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं आएगा। केवल जरूरी सेवाएं चालू रहेगी। लोग अपने-अपने घरों में रहेंगे, जिससे कि कोरोना वायरस से ग्रसित व्यक्तियों से आगे बढ़ने से रोका जा सके। केवल आवश्यक सेवा मे लगे कर्मियों को ही सूचना के माध्यम से जरूरत पड़ने पर बुलाया जा सकता है।