ग़ाज़ीपुर- समस्त चिकित्सालयों को मिलाकर जिला में हुआ ‘280 बेड का आइसोलेशन वार्ड’

 

– शासन द्वारा विधायक निधि से मिले 48 लाख रुपये

-गैर प्रांतों और विदेशों से आए हुए 4000 से ऊपर लोगों की कराई जा चुकी है स्क्रीनिंग

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोना वायरस जो वैश्विक महामारी के रूप में शुमार हो चुका है, जिसको देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर पूरे देश में 21 दिनों का लॉक डाउन घोषित किया जा चुका है। वहीं स्वास्थ्य महकमा भी कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पूरी तरह से कमर कस चुका है। इसके मद्देनजर जनपद के विभिन्न निजी एवं सरकारी चिकित्सालयों को मिलाकर 280 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया जा चुका है और 42 आईसीयू भी आरक्षित किया जा चुका है। इसके साथ ही कोरोना से संबंधित किट खरीदने हेतु 48 लाख रुपए का बजट भी मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय को प्राप्त हो चुका है।
जिला सर्विलांस एवं प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. उमेश कुमार ने बताया कि जनपद के समस्त विधायकों के द्वारा पिछले दिनों दिए गए विधायक निधि से 48 लाख रुपये की धनराशि जिला प्रशासन के माध्यम से मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय को प्राप्त हो हुयी है। इस धनराशि से मास्क, सैनिटाइजर, ग्लब्स, किट व अन्य जरूरी सामान खरीदने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। इस बाबत एसीएमओ डॉ. के.के. वर्मा ने बताया कि जनपद में कुल 477 लोग विदेशों और 4514 देश के अन्य प्रांतों से गाजीपुर में आए हुए हैं। इन सभी लोगों में से करीब 4000 से ऊपर लोगों का थर्मल स्क्रीनिंग किया जा चुका है और इस स्क्रीनिंग के दौरान करीब 11 लोग संदिग्ध पाए गए थे। इन सभी लोगों की जांच बीएचयू भेजा गया था, जिसमें से 8 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। इन सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। शेष तीन लोगों का रिपोर्ट आना अभी बाकी है। डॉ. के.के. वर्मा ने बताया कि सैदपुर स्थित वर्ल्डग्रीन हॉस्पिटल में 6 बेड का आईसीयू और 40 बेड आइसोलेशन वार्ड, दुल्लहपुर स्थित आर एस हॉस्पिटल में 9 बेड का आईसीयू और 40 बेड आइसोलेशन, लाइफ केयर हॉस्पिटल जमानिया रोड 9 बेड का आईसीयू और 50 बेड आइसोलेशन, शम्मे हुसैनी हॉस्पिटल गंगा ब्रिज 8 बेड का आईसीयू और 40 बेड के आइसोलेशन के साथ ही शम्मे गौसिया माइनॉरिटी आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज सहेडी में 10 बेड का आईसीयू और 100 बेड का आइसुलेशन वार्ड बनाया गया है। एसीएमओ डॉ. डी.पी. सिन्हा ने बताया कि जिलाधिकारी कार्यालय स्थित कंट्रोल रूम से सूचना आने पर सभी लोगों की जांच की जा रही है। जांच के दौरान संभावित मरीज नहीं होने पर उन्हें दवा देकर होम कोरेनटाइन का सलाह दी जा रही है। गत दिवस मिर्जापुर स्वास्थ्य केंद्र के एमवाईसी आर.पी. यादव और फार्मासिस्ट देवेंद्र पांडे के द्वारा क्षेत्र के गहनी, चक फरीद, बहरियाबाद, ताडा, सुल्तानपुर, डोरा सहित कई गांव का दौरा किया गया। जहां पर दूसरे प्रदेश और विदेशों से आए हुए लोग रह रहे हैं। बता दे न इन सभी की पहले ही स्क्रीनिंग की जा चुकी है। उन्हें दुबारा से कोई समस्या न हो इसलिए निरीक्षण किया जा रहा है। हालांकि सभी लोग स्वस्थ पाए गए। वहीं शनिवार को इन सभी गांव में दूसरे देश व अन्य प्रांतों से आए हुए लोगों की रिपोर्टिंग एआरओ बलराम चौधरी और बीपीएम सोनल श्रीवास्तव के द्वारा किया गया।