ग़ाज़ीपुर- जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी को रोकने के लिए आवश्यक वस्तुओ के थोक एवं फुटकर भाव किए गए निर्धारित

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोविड-19 के दृष्टिगत जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने जनपद गाजीपुर में जन सामान्य को खाद्य सम्बन्धी आवश्यक वस्तुओ की उपलब्धता सुनिश्चित कराने तथा जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी को रोकने हेतु गठित समिति की सस्तुति के दृष्टिगत जनहित मे आवश्यक सेवा वस्तुओ का वितरण सुनिश्चित किये जाने के क्रम में मूल्य निर्धारण किया गया है। इसी क्रम में आवश्क वस्तुओ के थोक एवं फुटकर भाव निर्धारित किये गये है, जिसमें चावल कॉमन 2900रू. से 3000रू. प्रति कुन्तल एंव 30रू. से 32रू. प्रतिकिग्रा, अरहर दाल 9500 रू. से 10000 रू. एवं 105 रू. से 110रू. प्रतिकीलोग्राम, चना दाल 6200रू से 6300रू एवं 67रू से 70रू प्रतिकीलोग्राम, मसूर दाल 6500रू0 तथा 70रू से 75रू प्रतिकिग्रा, मटर दाल 6200रू से 6300रू एंव 67रू से 70रू प्रतिक्रिग्रा, राजमा 9000रू से 9500रू एवं 110रू से 115रू प्रतिक्रिग्रा, बेसन 6400रू से 6500रू एवं 70रु से 75 रू प्रतिकिग्रा, बेसन पैकेट 7600 रू एवं 80 से 85 रू तक, गुड़ 3500 रू से 3800रू एंव 40 से 45 रू प्रतिकिग्रा, चीनी 3600रू से 3700रू एंव 40 रू प्रतिकिग्रा, नमक पैकेट 1800रु एवं 20रू प्रतिकिग्रा, आटा 2700रू से 2900रू एवं 30 से 35रू प्रतिकिग्रा, सरसो तेल 100रु से 104रु प्रतिलीटर तथा 105 से 110 प्रतिलीटर, रिफाईन तेल पैकेट 100रू0 प्रतिलीटर एवं 105रु से 106रू प्रतिलीटर, रिफाईन तेल बोतल 104रू प्रतिलीटर तथा 110रु से 112रू प्रतिलीटर, आलू  2400रू एवं 25रु से 30रू प्रतिकिलो, प्याज 2700रु से 3000रू एवं 32रू से 35रू प्रतिकिलो, टमाटर 3000रू एवं 40रू प्रतिकिलों, अदरख 8000रू तथा 100रू प्रतिकिलो, लहसुन 8000रू एवं 100रू प्रतिकिलो, परवल 5000रू एंव 60 रू प्रतिकिलो, लौकी 1000रू एंव 20रू प्रतिकिला, नेनुआ 3000रू एंव 40रू प्रतिकलो, बैगन 1200रू एंव 20रू प्रतिकिलो, पालक 1000रू एवं 20 रू प्रतिकिलो, हरा मिर्चा 4500रू एवं 80रू प्रतिकिलो, अंगूर 6000रू एंव 70रू प्रतिकिलो, संतरा 3800रू एंव 50रू से 55 रू प्रतिकिलो, सेब 10000रू एवं 100- से 120रू प्रतिकिलो, केला 40रू प्रति दर्जन एवं 60रू प्रतिदर्जन दर निर्धारित किया गया है। जिलाधिकारी ने जनपद के थोक एवं फुटकर विक्रेताओ को सख्त निर्देशित किया है कि उपरोक्त निर्धारित थोक एवं फुटकर भाव से अधिक मूल्य लेते हुए पाये
जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध प्रथम रिपोर्ट दर्ज करायी जायेगी।