ग़ाज़ीपुर- महामारी में भी गरीबों के राशन पर डांका डालने से बाज नही आ रहे कोटेदार

प्रखर ब्यूरो बिरनो/गाजीपुर। लाकडाउन और कोरोना महामारी में भी गरीबों के राशन पर कोटेदार डांका डालने से बाज नही आ रहे है। लेकिन पूर्ति विभाग के अधिकारी कोई कार्यवाही नही कर रहे है।
बिरनो थाना क्षेत्र के रुहीपुर गांव में सोमवार को राशन वितरण के पांचवे दिन भी कोटेदार की अनियमितता के कारण एक बार फिर ग्रामीणों का गुस्सा फुट गया। राशन की दुकान को निरस्त करने के लिए ग्रामीणों ने प्रदर्शन और नारेबाजी किया। कोटेदार रविन्द्र यादव द्वारा लगभग 60 गरीब असहाय कार्डधारकों को राशन न दिए जाने के साथ साथ लाभार्थियों को 5 से 10 किलोग्राम राशन कम दिए जाने और जाबकार्ड धारकों को रुपये लेकर राशन दिए जाने के विरोध में लोगों के प्रदर्शन किया। शिकायत के बाद जांच करने पहुचे खाद्यान निरीक्षक धीरेंद्र तिवारी के सामने भी लोगों ने प्रदर्शन और कोटेदार के खिलाफ नारेबाजी किया। शिकायत करने वाले शिवकुमार बिंद, हरेंद्र कुमार, रामबृक्ष, मनई राम, रामधनी यादव, कविलाश गौड़, सुरेंद्र शर्मा, मोती राम, तुलसी गौड़ आदि ने बताया कि कई बार शिकायत के बाद भी खाद्यान निरीक्षक की मिलीभगत से कोटेदार मनमानी कर रहा है। ऐसे में इस महामारी में भी विभाग कोटेदार पर कोई कार्यवाही नही कर रहा है। यदि विभाग द्वारा कोटेदार की अनियमितता पर कोई कारवाही नही हुई तो वे सभी सड़क पर उतरने के लिए बाध्य होंगे। इस संबंध में जिलापूर्ति अधिकारी कुमार निर्मलेन्दु ने बताया कि रुहीपुर गांव के कोटेदार की अनियमितता की शिकायत मिली है, जांच रिपोर्ट में यदि ग्रामीणों का आरोप सही मिला तो कोटेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया जाएगा।