ग़ाज़ीपुर- कोरोना हॉट स्पॉट स्थलों के तीन किलोमीटर के दायरे में स्वास्थ विभाग ने घर-घर किया सर्वे

prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोविड-19 से बचाव एवं रोकथाम के लिए पूरे देश में 25 मार्च से लॉक-डाउन घोषित किया गया है। इस दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित एवं संक्रमण की संभावना होने पर आस-पास के इलाकों और ट्रैवेल हिस्ट्री निकालकर सर्वे और स्क्रीनिंग की जा रही है। जनपद में तीन जमाती और उनके संपर्क में आए दो अन्य लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी, जिसके बाद से ही इन लोगों को जहां पर कोरनटाइन किया गया था, उसे पूरी तरह से सील कर दिया गया है और अब उसके तीन किलोमीटर के दायरे में घर-घर का सर्वे कर जिले के बाहर से आए लोगों की सूची तैयार की गयी है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. के.के. वर्मा ने बताया कि सदर कोतवाली के महुआबाग इलाके के एक मस्जिद से जमातियों को पकड़ा गया था, जहां पर उन्हें कोरेंटाईन कर उनकी रिपोर्ट जांच के लिए भेजी गई थी, जिसमें से तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसी को देखते हुए शुक्रवार को इस इलाके के तीन किलोमीटर के दायरे में घर-घर लोगों का सर्वे किया गया है। इसके तहत यह पता लगाया जा रहा है कि कितने लोग जिले से बाहर के आए हुए हैं। इसके मद्देनजर जिले में 18 लोग चिन्हित किए गए हैं, जिनकी सैंपलिंग कर जांच के लिए शुक्रवार को बीएचयू भेजा गया है। इसके साथ ही इन लोगों के संपर्क में आए दो अन्य लोग दिलदार नगर इलाके के रहने वाले थे। उनकी भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिससे उस पूरे इलाके को भी पूरी तरह से सील कर दिया गया है। इस इलाके का भी सर्वे किया गया जहां से कुल 42 लोग जिले के बाहर के मिले। इनकी सेंपलिंग और स्क्रीनिंग रेलवे ट्रेनिंग सेंटर में भदौरा के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. रवि रंजन के देखरेख में किया जा रहा है। एसीएमओ डॉ. डी.पी. सिन्हा ने बताया कि शुक्रवार को 47 लोगों की सैंपलिंग कर उनकी रिपोर्ट जांच के लिए भेजी गई है और शेष लोगों की जांच शनिवार को भेजी जाएगी। साथ ही उन्होंने बताया कि इन सभी लोगों को होम कोरेंटाईन करके इलाकों में विभाग के द्वारा घर-घर जाकर सेनेटाईज़ करने का भी कार्य किया जा रहा है।