ग़ाज़ीपुर- कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति 24 घण्टे के अंदर कराए जांच नही तो होगी कार्यवाही- जिलाधिकारी

prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने बताया कि कोविड-19 कोरोना वायरस के संक्रमण की विभीषिका से रोकने के उद्देश्य से लॉक डाउन किया गया हैं। इस संक्रमण से बचाव हेतु संक्रमित व्यक्ति का चिन्हीकरण एवं उसका नियमानुसार चिकित्सीय परीक्षण एवं उपचार आवश्यक हैं। इसमें थोड़ी सी भी चूक होने पर इसका संक्रमण अत्यंत तीव्र गति से होता है। संक्रमित व्यक्ति से कोरोना वायरस परिवार, समाज एवं कार्य स्थल पर साथ-साथ काम करने वाले व्यक्तियों में अत्यन्त तीव्रता से फैलता है।फलस्वरूप वह भी गम्भीर रूप से बीमार पड़ सकते है। बीमारी से मृत्यु तक होने की सम्भावना बनी रहती है। कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति या वह सभी व्यक्ति जो संक्रमण क्षेत्र या संक्रमित व्यक्तियों के सम्पर्क में आये है अथवा जो निजामुद्दीन दिल्ली तबलीगी जमात सम्मेलन में शामिल हुए हो या शामिल होने वालों के सम्पर्क में आये हो व जिनको किसी भी प्रकार से संक्रमण होने की सम्भावना हो, वह स्वेच्छा से बिना देरी अथवा लापरवाही किये 24 घण्टे के अन्दर अपनी चिकित्सीय जॉच हेतु अपने जनपद के मुख्य चिकित्साधिकारी के समक्ष स्वयं प्रस्तुत हो। ऐसा न करना महामारी अधिनियम 1897 की धारा-(2), (3), (4) एवं उत्तर प्रदेश महामारी कोविड-19 विनियमावली, 2020 के प्राविधानों का उल्लघन है तथा ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध उक्त अधिनियम एवं विनियमावली के संगत प्राविधानों के अन्तर्गत कठोर कार्यवाही की जायेगी।