ग़ाज़ीपुर- बाहर से घर आने के बाद सतर्कता बरतें और रहें कोरोना से सुरक्षित

prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal
prakhar purvanchal

• जरा सी लापरवाही आपको कर सकती है परेशान

• बरतें सावधानी ताकि बाहर से अपनों तक न पहुंचे वायरस

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोना वायरस आज वैश्विक समस्या का रूप ले चुका है। भारत में भी इसका प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। अब तक देश भर में इसके हजारों मामले सामने आ चुके हैं। आंकड़ों से पता चलता है कि कोरोना वायरस भारत को तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा है। ऐसे में हर किसी के मन में सवाल उठता है कि खुद को या किसी अन्य को आखिर बाहर से घर के भीतर आने पर कैसे संक्रमण मुक्त (सेनेटाइज) किया जाए।
एसीएमओ डॉ. प्रगति कुमार ने बताया कि सरकार लोगों से बेहद जरूरी काम होने पर ही घर से निकलने की अपील कर रही है। हम सभी कोरोना वायरस से बचने के लिए लॉक डाउन में रह रहे हैं। इससे बचाव के लिये जनसाधारण हर संभव परहेज अपना रहा है। हालाँकि बाहर से घर आने के बाद आप द्वारा की गई छोटी सी चूक कोरोना के नजदीक ला सकती है। लिहाजा सावधानी बरतें ताकि आप सभी महफूज रह सकें। डॉक्टरों की सलाह है कि कोरोना से बचाव के लिए बाहर से आने के बाद खुद को और आने वाले सामान को भी संक्रमणमुक्त करें। घर आने के बाद साधारण एहतियाती उपाय करके खुद को और दूसरों को संक्रमण को आगे बढ़ने से रोका जा सकता है। बच्चों व बुजुर्गों के लिए तो यह वायरस है ही नुकसानदेह, जवानों को भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए। घर में प्रवेश करते समय इन बातों का विशेष ख्याल रखे कि डोरबेल, कूड़ादान, लिफ्ट के बटन, कार के दरवाजे, बगीचे के फूल, जूते-चप्पल, दरवाजे के हैंडल को जब भी छुएं तो फौरन हाथ धोएं। जरा भी कोताही न करें। घर में प्रवेश करने के बाद किसी भी वस्तु को छूने से बचें। सर्वप्रथम अपने जूते या चप्पल निकालें उसके बाद अपने कपड़ों को निकाल कर अलग किसी ऐसे बॉक्स में रखें जिसको कोई ना छुए। इसके अलावा जरूरत के अल्कोहल वाले सेनेटाइजर का प्रयोग करें। बाहर से घर आने पर हाथों को अच्छे से धोएं तथा अपने चेहरे या आँख को न छुएँ। उसी बॉक्स में अपने जरूरी दस्तावेज़ व मोबाइल, पर्स, वॉलेट, चाभी आदि डाल दें। यदि आप अपने पालतू कुत्ते को बाहर टहलाने के बाद घर आयें हैं तो उसके पैरों को डिसइंफेक्ट करने के बाद ही उसका प्रवेश घर में करें। शरीर को साफ़ और सुरक्षित रखने के लिए साबुन से स्नान करें, यदि स्नान करना मुमकिन न हो तो शरीर के सभी अंगों को अच्छे से सैनीटाइज़ करें। संक्रमण से बचने के लिए यह जरूरी है कि आप अपने फोन, पर्स, पेन, बैग, बेल्ट, चाबी, मोबाइल चार्जर, लैपटाप, चेन आदि को भी पूरी तरह सैनीटाइज़ करें। बाहर से लायी हुई किसी भी वस्तु की सतह को भी साफ़ करने के लिये ब्लीच सोल्यूशन का प्रयोग करें या उसे सैनिटाइजर से साफ करें। मगर ध्यान रहे कि सफाई करने वाले दो तरह के पदार्थों को मिलाने से बचें। हर पदार्थ एक तरह का रसायन हो सकती है। अपने हाथों के ग्लब्स और मास्क को सावधानीपूर्वक निकालें और हाथों को 40 सेकण्ड तक साबुन व पानी से धोएं या तो अल्कोहल वाले सेनेटाइजर का इस्तेमाल करें। अगर आपको फ्लू या सर्दी-ज़ुकाम जैसे लक्षण दिखाई दे रहे हैं, तो फौरन डॉक्टर को दिखाएं।