ग़ाज़ीपुर- हर शरीर की भिन्न होती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

prakhar purvanchal
prakhar purvanchal

 

prakhar purvanchal

 

• इम्यूनिटी अच्छी होने से परास्त हो जाती हैं बीमारियां

• आयुष मंत्रालय की सलाह पूरी तरह मानें: एसीएमओ डॉ. प्रगति कुमार

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोना वायरस कोविड-19 से बचने के लिए जितना आवश्यक लाकडाउन का पालन करना है, उतना ही आवश्यक अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता(इम्यूनिटी) बढ़ाना है। हर उम्र के व्यक्ति की एक खास रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है। यह कहना है डॉ. प्रगति कुमार का। डॉ. प्रगति कुमार ने बताया कि रोग प्रतिरोधक क्षमता हर उम्र में अच्छी होनी चाहिए। इससे कई बीमारियां आपके शरीर पर धावा बोलकर भी हार जाती हैं। इसलिए सभी को अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता दुरुस्त रखना चाहिए। उन्होने वायरस कोविड-19 से लड़ने के लिए आयुष मंत्रालय की ओर से जारी उस सलाह का भी जिक्र किया, जिसमें 10 बिन्दुओं के जरिये कई आहम जानकारियां दी गई हैं।
आयुष मंत्रालय की सलाह
1. दिनभर समय-समय पर गर्म पानी पीते रहें. पानी को हल्का गर्म करके पिएं।
2. रोजाना कम से कम 30 मिनट तक योग करें। मंत्रालय ने योग और ध्यान करने की सलाह दी।
3. अपने आहार में हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का इस्तेमाल जरूर करें।
4. एक चम्मच या 10 ग्राम च्यवनप्राश का सेवन रोज सुबह करें. डायबिटीज के रोग शुगर फ्री च्यवनप्राश का सेवन करें।
5. दिन में एक या दो बार हर्बल चाय / काढ़ा पीएं. काढ़ा बनाने के लिए पानी में तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सूखी अदरक, मुनक्का मिलाकर अच्छी तरह धीमी आंच पर उबालें. अगर मीठा लेना हो तो स्वादानुसार गुड़ डालें या खट्टा लेना हो तो नींबू का रस मिला लें।
6. दिन में कम से कम एक या दो बार हल्दी वाला दूध लें. 150 मिली लीटर गर्म दूध में करीब आधी छोटी चम्मच हल्दी मिलाकर पीएं।
7. नैजल एप्लीकेशन : तिल का तेल या नारियल व सरसो का तेल या घी रोज सुबह और शाम नाक के दोनों छिद्रों में लगाएं।
8. ऑयल पुलिंग थेरेपी : एक बड़ी चम्मच तिल का तेल या नारियल का तेल मुंह में लें, इसे पीना नहीं है, इसे दो से तीन मिनट तक मुंह में घुमाने के बाद थूक दें, इसके बाद गुनगुने पानी से कुल्ला करें। दिन में एक या दो बार ऐसा किया जा सकता है।
9. गले में खरास या सूखा कफ होने पर पुदीने की कुछ पत्तियां और अजवाइन को पानी में गर्म करके स्टीम लें।
10. गुड़ या शहद के साथ लॉन्ग का पाउडर मिलाकर इसे दिन में दो से तीन बार खाएं। सूखा कफ या गले में खरास ज्यादा दिनों तक है तो डॉक्टर को दिखाएं।