ग़ाज़ीपुर- निदेशक कर्नल अरुण सिंह ने जूम एप पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए युवाओं को किया संबोधित

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। “जो डरा सो बचा” उक्त उद्गगार नेहरु युवा केंद्र, संगठन युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार के अधिशाषी निदेशक कर्नल अरुण सिंह ने जूम एप पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए जनपद गाजीपुर के युवाओं को संबोधित करते हुए कहा। उन्होंने कहा कि लोग कोरोना जैसी  महामारी को हल्के में न लें। इस का एकमात्र उपचार बचाव है। लोग अपने घरों में रहें सुरक्षित रहे। उन्होंने प्रधानमंत्री के आह्वान वाले आरोग्य सेतु को ज्यादा से ज्यादा लोगों को डाउनलोड करने का सुझाव दिया। क्योंकि इसकी खासियत है कि आपके कोरोना संक्रमित क्षेत्र में पहुंचने पर एलर्ट दे देता है। इसी के साथ उन्होंने दीक्षा ऐप को भी डाउनलोड करने का तरीका बताया तथा स्वयं के द्वारा हिंदी माध्यम में तैयार किए गए वीडियो को भी दिखाया। उन्होंने बताया कि दीक्षा एप्स से कोरोना के बारे में जानकारी तो मिलती ही है, इससे युवा पढ़ाई भी कर सकते हैं। एक युवा 10 को प्रशिक्षित करें, इस प्रकार कुछ समय में पूरा गाजीपुर प्रशिक्षित हो जाएगा। कर्नल अरुण सिंह ने युवाओं द्वारा पूछे गए प्रश्नों का बड़े ही सहज ढंग से भोजपुरी में जवाब दिया। उन्होंने स्वयं को सुरक्षित रखते हुए अपने परिवार, आसपास के लोगों को भी जागरूक करने का अपील किया। आगे उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क या गमछा के बाहर ना निकले, बार-बार साबुन से हाथ धोए। विशेष परिस्थिति में यदि बाहर निकलना ही हो तो घर आने पर जूता चप्पल बाहर ही रखें तथा कपड़ा तुरंत साफ करें। सबसे महत्वपूर्ण बात कि किसी व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक हो और उसमें कोरोनावायरस हो तो यह कोई जरूरी नहीं कि उसमें लक्षण दिखाई दे और ऐसे व्यक्ति के संपर्क में विशेषकर से बुजुर्ग और जिन की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो उसके सम्पर्क में आते हैं तो उनमें संक्रमण की संभावना बहुत अधिक बढ़ जाती है, इसलिए सदैव सावधानी रखें। जूम ऐप पर वीडियो कांफ्रेंसिंग में नेहरू युवा केंद्र के जिला युवा समन्वयक कपिल देव राम, डीपीओ बृजेश श्रीवास्तव नमामि गंगे, प्रसाद लेखाकार सुभाष चंद्र प्रसाद सहित जनपद के राष्ट्रीय स्वयंसेवक, युवा क्लब के पदाधिकारी एवं गंगा दूतों ने भाग लिया।