ग़ाज़ीपुर- हॉटस्पॉट क्षेत्र में घरेलू चीजों की होगी होम डिलीवरी, नही दी जाएगी कोई छूट

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने बताया है कि मुख्य सचिव, उ.प्र. शासन के निर्देशानुसार लॉक डाउन के दौरान 20 अप्रैल से कतिपय शर्ताे के अधीन विभिन्न गतिविधियों को संचालित किये जाने की अनुमति प्रदान की गयी है। इन गतिविधियों का संचालन कंटेनमेंट जोन/हॉट स्पाट जोन मे अनुमन्य नही होगा। यदि कोई नया हॉट स्पाट चिन्हित किया जाता है तो वहां पूर्व मे दी गई अनुमति निरस्त हो जायेगी। उन्होने बताया कि जनपद में 3 मई तक लॉक डाउन पूर्ववत प्रभावी रहेगा तथा हॉट स्पाट क्षेत्र में राशन, दूध, फल, सब्जी एंव दवाओं की होम डिलीवरी ही अनुमन्य होगी तथा हॉट स्पाट क्षेत्र में इससे सम्बन्धित कोई भी दूकान नही खोली जायेगी। वाहनो के आवागमन पर प्रतिबन्ध रहेगा। केवल पास धारक वाहन, जिसमें दो पहिया वाहन पर एक व्यक्ति एंव चार पहिया वाहन पर केवल दो व्यक्ति ही अनुमन्य होगे। कोई भी व्यक्ति द्वारा लॉक डाउन का उलंघन किये जाने पर विधिक कार्यवाही की जायेगी। उन्होने समस्त उपजिलाधिकारी एंव क्षेत्राधिकारी को लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने जनपद में चार कार्यदायी संस्थाओ को, जिसमें परियोजना प्रबन्धक, यू.पी.डा. पैकेज-8 गाजीपुर, परियोजना प्रबन्धक, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण गाजीपुर, अधिशासी अभियन्ता, निर्माण खण्ड-1 लो.नि.वि. गाजीपुर एंव जी.पी.टी. इम्फ्रा प्रोजेक्टस लि. जी.पी.टी./आर.वी.एन.एल./रेलवे प्रोजेक्ट ताड़ीघाट गाजीपुर सम्मिलित है। उन्होने इन परियोजनाओं को 20 अप्रैल से नगर पलिका/नगर पंचायत क्षेत्र के बाहर संचालित करने की अनुमति दी है तथा समस्त संस्थाओ को लॉक डाउन के गाईड लाईन्स का पूर्ण रूप से अनुपालन करते हुए अपनी-अपनी गतिविधियों का संचालन करने हेतु निर्देश दिया है।