ग़ाज़ीपुर- जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारी व खण्ड विकास अधिकारीयों के संग की बैठक

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य की अध्यक्षता में वित्तीय वर्ष 2020-21 में कराये जाने वाले कार्यो के सम्बन्ध में समस्त उपजिलाधिकारी व खण्ड विकास अधिकारीयों की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी उपजिलाधिकारी/खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिया कि मनरेगा जाब कार्ड सम्बन्धित व्यक्ति के पास ही होना चाहिए। जॉब कार्ड यदि कोई दूसरे के पास पाया जायेगा तो सम्बन्धित के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। उन्होने निर्देश दिया कि मनरेगा कार्मिको के माध्यम से कार्य कराया जा सकता है, परन्तु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना अनिवार्य होगा। पिछले वित्तीय वर्ष मे जनपद की प्रगति कम होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए इस वित्तीय वर्ष में पहले से ही सभी विभाग अपने अपने विभाग का मासिक लक्ष्य बनाते हुए कार्य पूर्ण करायेगे। जिन विभागो को जितना लक्ष्य दिया गया है। उसके अनुसार पूरे वर्ष का मानक बनाकर कार्य को प्रारम्भ कराये। सभी खण्ड विकास अधिकारी यह सुनिश्चित करे कि समस्त एक्टिव मनरेगा कार्ड धारको को अनिवार्य रूप से 100 दिवस का कार्य अवश्य दिया जाय। उन्होने कहा कि अगले तीन महीनो मे सभी कार्यदायी विभाग को 40 प्रतिशत कार्य पूर्ण कराना अनिवार्य है, इसमें किसी प्रकार का शिथिलता क्षम्य नही होगी। इसके अतिरिक्त उन्होने सार्वजनिक उपयोग की भूमि, चकमार्ग की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु सभी उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने नलकूप विभाग को निर्देश दिया कि क्षतिग्रस्त नालियों को समयांन्तर्गत ठीक करा ले। यदि किसी ग्रामसभा में कुछ लोगो का जॉब कार्ड बनने से वंचित रह गया हो तो उसे प्राथमिकता के आधार पर बनवाया जाय। उन्होने समस्त उपजिलाधिकारियों से पशुओ के चारा उपलब्धता के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा करते हुए भूसा उपलब्ध कराये जाने हेतु लक्ष्य निर्धारित किया। इसमें सभी खण्ड विकास अधिकारियों को भी 10-10 टाली भूसा उपलब्ध कराने को कहा। जिलाधिकारी ने सेल्टर होम में कोरेनटाईन मुस्लिम बन्धुओ को रमजान के दृष्टिगत खजूर एवं रूह आफजा की बोतल आवश्यकतानुसार उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने खण्ड विकास अधिकारी मोहम्मदाबाद एवं कासिमाबाद को निर्देश दिया कि उनके क्षेत्रो मे खोदे गये तालाबो को दुरूस्त कराकर उन्हे मत्स्य पालन हेतु आवंटन किया जाये। इसके अतिरिक्त प्रत्येक विकास खण्ड में कम से कम 10-10 तालाब को साफ सफाई कराते हुए ठीक कराने को कहा। नौली मे कोटेदार द्वारा तीन युनिट पर पॉच किलो चावल देने की बात पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को निर्देश दिया कि इसकी जॉच कर कोटेदार के विरूद्ध एफ़आईआर दर्ज कराये। बैठक में जिलाधिकारी ने गॉव में राशन वितरण की चेकिंग करते हुए राशन कार्ड में अंकित युनिटो का भी सत्यापन कराने को कहा। इसके अतिरिक्त गॉव में निर्धन व्यक्तियों को आवास उपलब्ध कराने हेतु सूची तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होने सभी तहसीलो के सरकारी जमीन पर चल रहे मुकदमे के बावत जानकारी प्राप्त करने तथा वह भूमि विवाद किस प्रकार की है इसकी सूचना उपलब्ध कराने को कहा। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रकाश गुप्ता एंव सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।