ग़ाज़ीपुर- रेड ब्रिगेड की टीम ने मास्क के वितरण के लिए मरदह गांव को लिया गोद

प्रखर ब्यूरो मरदह/ग़ाज़ीपुर। रेड ब्रिगेड की टीम ने मरदह गांव को मास्क के वितरण के लिए गोद लिया। आज पूरा विश्व कोरोना के संक्रमण से परेशान है और भारत में पिछले 1 महीने से कोरोना के कारण लॉक डाउन का दूसरा चरण चल रहा है। तमाम निर्देशों के बावजूद मास्क आम लोगों की पहुंच के बाहर है। इसका सीधा असर आम जनता के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। आशा ट्रस्ट के सहयोग से रेड ब्रिगेड ट्रस्ट ने मरदह गांव को गोद लेने का ऐलान किया। इस संबंध में रेड ब्रिगेड ट्रस्ट की प्रियंका भारती ने बताया कि बाजार में मास्क उपलब्ध नहीं है और अगर उपलब्ध भी हैं तो काफी महंगे दामों पर, जिसके कारण लोग खरीद नहीं पा रहे है और साथ ही लोगों में जागरूकता की कमी भी है। इस लॉक डाउन में हमने यह महसूस किया और यह तय किया की हम अपने पूरे ग्राम सभा के आम जनता तक इस मास्क को नि:शुल्क पहुंचाएंगे और इस काम में हमारा सहयोग देश की प्रसिद्ध संस्था आशा ट्रस्ट ने किया है। निर्भया आजीविका केंद्र में मास्क की सिलाई का काम जारी है और हमारा लक्ष्य प्रतिदिन 500 मास्क बनाकर उसे बांटने का है। इस संबंध में आशा ट्रस्ट के प्रभारी वल्लभाचार्य पांडेेय ने बताया कि यह हमारा एक छोटा सा प्रयास है, ताकि हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को मास्क के बिना होने वाली परेशानियों से दूर रख सकें और लोगों को जागरूक कर सके। आशा ट्रस्ट मास्क के वितरण का काम वाराणसी, गाजीपुर, कानपुर, लखनऊ जैसे स्थानों पर कर रही है। दूसरे दिन 370 लोगो को चलते रास्ते व बैंक शाखा सहित ग्राहक सेवा केंद्र आदि पर मास्क का वितरण किया गया। मास्क वितरण के कार्यक्रम में प्रियंका भारती, अंकिता मित्रा, शांति प्रिया, प्रीति कुमारी उपस्थित रही।