ग़ाज़ीपुर- अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन(उपजा) के जिलाध्यक्ष उधम सिहं ने सभी पत्रकार बन्धुओं को दी शुभकामनाएं

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। अंतर्राष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन(उपजा) के जिलाध्यक्ष उधम सिहं ने सभी पत्रकार बन्धुओं को शुभकामनाएं दी है। श्री सिहं ने कहा कि पूरी दुनिया में पत्रकारिता के सम्मान और स्वतंत्रता के साथ सुरक्षा की सुनिश्चितता के उद्देश्य से विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। मीडिया लोकतंत्र का चौथा और सशक्त स्तंभ माना जाता है। भारतीय संविधान में भी प्रेस की स्वतंत्रता को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के रूप में मूल अधिकारों के अंतर्गत शामिल किया गया है। आगे उन्होंने कहा कि भारत जैसे विकासशील देश में मीडिया संस्थानों का महत्व अधिक होने के साथ ही उनके लिए चुनौतियां भी अधिक है। इन पत्रकार बन्धुओं को सुरक्षा देने के लिए हमारी सरकार को कठोर कानून की पहल करनी चाहिए, क्योंकि दुनियाभर में पत्रकारों को तरह-तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सऊदी पत्रकार जमाल खशोगी, भारतीय पत्रकार गौरी लंकेश और उत्तरी आयरलैंड की पत्रकार लायरा मक्की की हत्याओं ने प्रेस की सुरक्षा पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। दुनियाभर में पत्रकारों और प्रेस को उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है। कई बार तो ऐसा भी देखने को मिलता है जब कोई मीडिया संस्थान सरकार की मर्जी से नहीं चलता तब भी उसे तरह-तरह से प्रताड़ित किया जाता है। मीडिया संगठनों को बंद करने तक के लिए मजबूर किया जाता है। कभी-कभी तो पत्रकारों के साथ मारपीट की जाती है और उन्हें धमकियां तक दी जाती हैं। यही ऐसी चीजें हैं जो अभिव्यक्ति की आजादी में बाधाएं हैं। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए पत्रकारों की सुरक्षा एवं स्वतंत्रता के लिये हमारी सरकारों को संकल्पित होना चाहिए। महामंत्री लल्लन सिंह यादव ने कहा कि प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया का दायित्व बहुत अधिक हो जाता है। जब पूरा विश्व कोरोना महामारी जैसे संकट से उबरने की कोशिश में लगा हो। उन्होंने सभी पत्रकारों को इस आपदा की घड़ी में हिम्मत और जवाबदारी से कर्तव्य निर्वहन के लिए बधाई दी है।