ग़ाज़ीपुर- गैर जनपद और गैर प्रांत से आये क्षेत्रीय लोगो की थर्मल स्कैनिंग कर निजी स्कूल में किया गया क्वॉरेंटाइन

प्रखर ब्यूरो सेवराई/ग़ाज़ीपुर। गैर जनपद और गैर प्रांत में फसे क्षेत्रीय लोग रविवार को तहसील मुख्यालय पहुचे। तहसील मुख्यालय पहुँचे लोगो का प्रशासनिक अधिकारियों के सामने थर्मल स्कैनिंग कराते हुए उनके स्वास्थ्य की जांच पड़ताल की गई। इसके साथ ही प्रशासनिक आदेश तक उन्हें तहसील क्षेत्र के बस स्टैंड स्थित एक निजी स्कूल में क्वॉरेंटाइन किया गया है।
लॉक डाउन में क्षेत्र के विभिन्न गांव के लोग इलाहाबाद, झांसी, कोलकाता, अमेठी, चंदौली, मऊ, आजमगढ़ आदि गैर जनपदों और गैर प्रांतों में फंसे हुए थे, जिन्हें प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न बसों के माध्यमों से उनको तहसील मुख्यालय लाया गया। गाजीपुर जनपद के सभी तहसीलों में दिन अनुसार मजदूरों को लाने का क्रम निश्चित किया गया है। रविवार को तय समयानुसार उप जिला अधिकारी सेवराई विक्रम सिंह, तहसीलदार घनश्याम की मौजूदगी में 8 बस सभी मजदूरों को लेकर पहुंची। जिनका सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भदौरा के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. रवि रंजन के नेतृत्व में चिकित्सीय टीम द्वारा थर्मल स्कैनिंग कराया गया। जरूरी दस्तावेजों को पूर्ण कराने के साथ ही उन्हें अग्रिम शासनादेश तक निजी विद्यालय में ही क्वॉरेंटाइन किया गया है। अभी तक 200 से ऊपर मजदूर सेवराई तहसील मुख्यालय पहुंचे हैं, जबकि पूरे दिन मजदूरों को लाने का यह क्रम जारी रहेगा। इस बाबत को उपजिलाधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि गैर प्रांतों और गैर जनपदों से बसों द्वारा मजदूरों को लाया जा रहा है, जिन्हें स्वास्थ्य परीक्षण उपरांत होम क्वॉरेंटाइन किया जाना है। किसी भी मजदूर में स्वास्थ की कमी पाई जाती है तो उन्हें जिला मुख्यालय रेफर किया जाएगा।