ग़ाज़ीपुर- पारम्परिक कारीगरों के लिए राज्य सरकार ने लागू की विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जनपद के पारम्परिक कारीगरों को सूचित किया गया है कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में राज्य सरकार द्वारा विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना लागू किया गया है। यह योजना मुख्यमंत्री के प्राथमिकता बिन्दुओं में से एक है। इस योजना में पारम्परिक कारीगरी जैसे-मोची, कुम्हार, सोनार, टोकरी बुनकर, राजमिस्त्री, हलवाई, लोहार, बढ़ई, दर्जी एवं नाई के आजीविका के साधनों का सुदृढीकरण करते हुए उनके जीवन स्तर को उन्नत किया जाना है। इस योजनान्तर्गत आच्छादित पारंपरिक कारीगरों एवं दस्तकारों को उद्यम के आधार पर कौशल वृद्धि हेतु 6 दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम निःशुल्क एवं आवासीय होगा। जनपद को आवंटित ट्रेड मोची, कुम्हार, सोनार, टोकरी बुनकर, राजमिस्त्री, हलवाई, लोहार, बढ़ई, दर्जी एवं नाई के इच्छुक अभ्यर्थियों से प्रशिक्षण हेतु आनलाइन आवेदन पत्र वेबसाइट www.diupmsme.upsdc.gov.in पर दिनांक 30.05.2020 तक आमंत्रित है। आवेदन हेतु न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष है। अधिक जानकारी हेतु किसी भी कार्य दिवस में कार्यालय उपायुक्त उद्योग, जिला उद्योग प्रोत्साहन तथा उद्यमिता विकास केन्द्र, गाजीपुर से सम्पर्क किया जा सकता है।