ग़ाज़ीपुर- देश के विविधता में एकता पर गर्व की होती है अनुभूति- विजय मिश्र

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोंना के चलते जारी देश व्यापी लाकडाउन के दौरान दैनिक श्रमिकों को प्रतिदिन भोजन उपलब्ध कराने के लिए ग़ाज़ीपुर वासियों ने जिस तरह समर्थन व सहयोग प्रदान किया उसी तरह औद्योगिक क्षेत्रों में फंसे प्रवासी श्रमिकों के सुरक्षित घर वापसी हेतु आज पूरा देश एकजुट है और प्रदेश सरकारों ने इस प्रक्रिया में जनसहभागिता को अनुमति देकर एक तरफ जहाँ भारतीय राजनीति में लोकतंत्र की स्वस्थ परम्परा का परिचय दिया है, वहीं मजदूर और मजबूर लोगों के मदद के मामले में हमारे देश भारत की एकता और अखंडता की छवि को विश्व पटल पर और मजबूती प्रदान किया है। साथ ही आपदा के समय देश और देशवासियों के एकजुटता के इस आचरण ने हम सबको गौरवान्वित भी किया है। उक्त बातें जनसहयोग से जरूरतमंदो में चलाये जा रहे भोजन वितरण कार्यक्रम के 51वें दिन आज मंगलवार को देश के विविधता में एकता पर गर्व की अनुभूति प्रकट करते हुए पूर्व धर्मार्थ कार्य मंत्री विजय कुमार मिश्र ने कहीं। यहां एक बात विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं कि जनपद में स्थानीय प्रशासन द्वारा दियें जा रहे सशर्त ढील के फलस्वरूप अपनी रोजी-रोटी व भोजन का प्रबंध कर पाने में समर्थ हो रहे जरूरतमंद परिवारों ने पूर्व मंत्री विजय मिश्र एवं उनकी टीम को आशीर्वाद देते हुए लाभयार्थियों की सूची से आवास पर आकर स्वेच्छा से अपना नाम वापस लेंना आरम्भ कर दिया है। लेकिन फिर भी दानदाओं का सिलसिला आज भी लगातार जारी है और इस क्रम में आगे बताते चलें कि आज के दानदाताओं के क्रम में फतेउल्लहपुर निवासी पंकज तिवारी उर्फ पिंटू जी, महाजनटोली निवासी वरिष्ठ लिपिक आनंद प्रकाश अग्रवाल एवं हरिशंकरी निवासी विवेक गुप्ता द्वारा खाद्य सामग्री से योगदान करते हुए इस पुनीत अभियान को गति प्रदान करने का कार्य किया गया। इस कार्य को महान बताते हुए श्री मिश्र ने इनके प्रति साधुवाद प्रकट करने के साथ ही बताया कि आज सुबह में वितरित कियें गये भोजन में सब्जी युक्त पौष्टिक तहरी एवं शाम को वितरण हेतु तैयार हो रहे पूड़ी-सब्जी को मिलाकर कुल लगभग 3600 से अधिक लोगों के दरवाजे तक जाकर सुरक्षित रूप से भोजन का वितरण किया जाएगा।