ग़ाज़ीपुर- आगामी पर्व ईद के दृष्टिगत डीएम और एसपी ने की सभी धर्मगुरूओं के साथ पीस कमेटी की बैठक

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य एवं पुलिस अधीक्षक ओम प्रकाश सिंह ने आगामी पर्व ईद के दृष्टिगत राईफल क्लब सभागार मे जनपद के सभी धर्मगुरूओं के साथ पीस कमेटी की बैठक ली। बैठक मे जिलाधिकारी ने आगामी त्यौहारो को देखते हुए एवं जनपद मे कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए सभी धर्म गुरूओं एवं व्यापारी बन्धुओ से अपील किया कि इस महामारी को देखते हुए आप सभी लोग लाकडाउन का पालन करते हुए अपने त्यौहारो को मनाये परन्तु शासन द्वारा दिये गये दिशा निर्देशो का अनुपालन सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने बताया कि देश के विभिन्न क्षेत्रों से लगभग 50 हजार श्रमिक इस जनपद मे आये है। इसके अतिरिक्त भी अन्य श्रोतो से भी लोग बाहर के प्रदेशो से आये। जनपद मे जब 1 या दो संक्रमित मरीज पाये गये थे तो पूरे जिले को लाकडाउन किया गया था, जबकि आज जनपद मे 36 कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के मिलने पर हमे उससे अधिक संवेदनशील होना पडेगा तभी इस माहमारी से बचा जा सकता हैे। जिलाधिकारी ने इस अवसर पर लोगो से अपील किया कि आने वाले दिनों मे सभी लोगो ने आत्मसंयम का परिचय नही दिया तो जनपद मे संक्रमण और बढेगा और पुनः जनपद मे लाक डाउन की स्थिति पैदा होगी। उन्होने सभी व्यापारियों एवं धर्म गुरूओं से अपील किया कि सभीे लोग अपने-अपने क्षेत्रों मे सभी लोगो से मास्क का प्रयोग करने, शोसल डिस्टेसिंग का पालन हेतु प्रेरित करें तथा शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन कराने मे जिला प्रशासन का पूर्ण सहयोग करें। इसमे सभी लोगो को प्रयास होगा तभी इस महामारी से बचा जा सकता है। अपने सम्बोधन के उपरान्त जिलाधिकारी ने सभी को आगामी त्याहारों की शुभकामनाएं दी। पुलिस अधीक्षक ने अपने सम्बोधन मे कहा कि जनपद मे प्रत्येक दिन 5 हजार प्रवासी नागरिक आ रहे है। पुलिस अधीक्षक ने सभी धर्म गुरूओ से अपील किया कि इस रोग का अभी कोई इलाज नही आया है, इस हेतु आप लोग जागरूक होकर जनहित का कार्य करें। आगे उन्होने कहा कि शोसल मीडिया, फेसबुक, ट्यूटर, वाट्सअप ग्रुप पर अनुपयोगी खबरे चलायी जा रही है, जिससे लोगो मे कन्फ्यूजन पैदा होती है और कभी-कभी यही वीडियो विवाद का करण बनते है। पुलिस अधीक्षक ने सभी धर्म गुरूओं एवं व्यापारी बन्धुओ से अपील किया कि सभी लोग आपसी सामंजस्य बनाकर इस जनपद की गंगा जमुनी तहजीब को कायम रखे एवं सभी धार्मिक, सामजिक एवं अन्य उत्सवों पर शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन करते हुए शोसल डिस्टेंसिग का पालन किया जाय। ये सभी प्रतिबन्ध आप लोगो को बचाने के लिए बनाया गया है, इसलिए इसका पालन प्रत्येक दशा मे किया जाय। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सदर, क्षेत्राधिकारी नगर तथा विभिन्न धर्मो के धर्म गुरू एवं व्यापार संगठनों के पदाधिकारी उपस्थित थे।