ग़ाज़ीपुर- सड़क दुर्घटना में मृत 2 प्रवासी व्यक्तियों के परिजनों को अखिलेश यादव ने भेजा 1-1 लाख की सहायता राशि

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। 13 मई को कोरोना महामारी के कारण देश में लागू लाकडाउन के चलते अपने गांव गौसपुर वापस आने के दौरान स्व. सूर्यदेव यादव व स्व. राजू यादव की सिहानी गाजियाबाद में ट्रक के चपेट में आने से हुई मृत्यु पर अपने घोषित ‌वादे के मुताबिक समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 1-1 लाख रुपए की सहायता राशि मृतक आश्रित की पत्नी लालमुनि यादव विधवा स्व. सूर्यदेव यादव व राजू यादव की पत्नी सुनीता यादव के बैंक खाते में भेजकर अपनी संवेदना व्यक्त किया है। राष्ट्रीय अध्यक्ष के संवेदना पत्र को लेकर आज मृतकों के त्रयोदशाह कार्यक्रम में पहुंचकर समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रामधारी यादव, विधायक डॉ. ‌विरेन्द्र यादव, पार्टी के पूर्व कोषाध्यक्ष राजेश राय उर्फ पप्पू राय, सहकारी बैंक के पूर्व चेयरमैन रामधारी यादव, कन्हैयालाल विश्वकर्मा, मीडिया प्रभारी अरुण कुमार श्रीवास्तव, दिनेश यादव आदि उनके परिजनों से मिले और मिलकर उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष का संवेदना पत्र और आरटीजीएस की फोटो कापी सौंपा। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि प्रवासी मजदूरों के प्रति मोदी-योगी सरकार गंभीर नहीं है। यह सरकार पूरी तरह से गरीब मजदूर विरोधी साबित हुई है। सरकार में न रहने के बावजूद समाजवादी पार्टी ने गरीब मजदूर की समस्यायों को गंभीरता से लिया है तथा दुर्घटना में मरने वालों को एक एक लाख रुपए की मदद कर उनके प्रति अपनी पूरी संवेदना का परिचय दिया है। गरीब मजदूर की मदद करना समाजवादियों की संस्कृति रही है। भाजपा के भाषण में केवल गरीब मजदूर हैं, उनकी मदद के लिए केन्द्र एवं प्रदेश सरकार के पास कोई योजना नहीं है। भाजपा सरकार ने जनता को मरने के लिए अपने हाल पर छोड़ दिया है, उसने पूरी तरह से सरेंडर बोल दिया है।