ग़ाज़ीपुर- रिश्वत मांगने के मामले में दारोगा हुए निलंबित

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। बिरनो थाना क्षेत्र के सिहाबारी गांव निवासी अमरजीत चौहान ने बुधवार को एसपी डॉ. ओमप्रकाश सिंह को शिकायतपत्र देकर घुस मांगने वाले हल्का के दारोगा हंसराज मिश्रा पर कार्रवाई करने की मांग की थी। एसपी से शिकायत में अमरजीत ने बताया कि मकान के ऊपर एक और रूम बनवा रहे थे। बगल के पटीदार ने आपत्ति जताते हुए मकान बनाने से रोक दिया। दारोगा द्वारा दोनों पक्षों को थाने बुलाकर एक सप्ताह में उक्त जमीन की पैमाइस कराने की बात कही गई। लेकिन अमरजीत के पटीदार ने एक माह तक पैमाइस नही कराया। फिर दरोगा से मिला तब उन्होंने दस दिन और काम बंद करने की बात कही। इसके बाद एक महीने बितने के बाद जब अमरजीत नायब दरोगा से मिले और कहा कि सर मेरा मकान चालिस साल पहले का बना है। मैं उसके ऊपर बनवा रहा हूं। इस पर उनको क्यो आपत्ति है। इसपर दरोगा जी ने कहा कि मैं सब बात जानता हूं। लेकिन तुम बीस हजार रुपए दो और जाकर घर बनाओ। पुलिस कप्तान ने बुधवार को पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को मामले की जांच करने का आदेश दिया। शुक्रवार की दोपहर कप्तान ने दारोगा हंसराज मिश्रा को लाइन हाजिर कर दिया। शुक्रवार की शाम जांच रिपोर्ट आने के बाद दारोगा हंसराज मिश्रा को पुलिस कप्तान ने निलबिंत कर दिया। मालूम हो कि इस मामले में एक ऑडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ है, जिसमे रिश्वत मांगने वाले दरोगा ने सर्किल के सीओ को 5 हजार रुपये रिश्वत देने और थाना प्रभारी को भी रिश्वत में मिलने वाले रुपये में हिस्सेदारी की बात कही है।