ग़ाज़ीपुर- फिर से बहाल होंगी परिवार नियोजन की सेवाएं

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में किए लॉक डाउन के दौरान परिवार कल्याण की रुकी हुई तमाम सुविधाओं को नए सिरे से शुरू किया जाएगा। हालांकि महिला व पुरुष नसबंदी ‘ट्रू नॉट’ मशीन से कोविड की जांच कराने के बाद ही हो सकेगी। इसके साथ ही परिवार नियोजन की सभी सेवाओं का प्रचार-प्रसार फिर से शुरू होगा। इसको लेकर एसीएमओ व नोडल अधिकारी डॉ. के.के. वर्मा ने जनपद के सरकारी अस्पतालों एवं प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारियों के अलावा आशा एवं अन्य फील्ड वर्कर को निर्देश जारी कर चुके हैं ।
डॉ. वर्मा ने बताया कि इस आदेश का तत्काल प्रभाव से पालन किया जाए। पिछले दिनों प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने आदेश जारी किया था कि लॉक डाउन के दौरान परिवार कल्याण की जो सेवाएं बंद हो गई थीं वह फिर से प्रारंभ हों। हालांकि अभी नसबंदी की सेवा ‘ट्रू नाट’ से कोविड-19 की जांच के बाद की जाएगी, जिसकी सूची बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। नसबंदी कराने के इच्छुक महिला व पुरुष की सूची आशा एवं अन्य वर्कर तैयार करते रहेंगे। यह सभी सेवाएं कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए दी जाएंगी। फ्रंटलाइन वर्कर्स लाभार्थियों के बीच जाकर उनकी आवश्यकता के अनुसार सेवाएं उपलब्ध कराएंगी। साथ ही नॉन कोविड-19 प्रसव इकाइयों पर समस्त अस्थाई विधियां अंतरा, छाया, कंडोम, गर्भ निरोधक गोलियां आदि पूर्व की भांति संचालित की जाएंगी। डॉ. वर्मा ने बताया कि जिन ब्लॉकों और शहरी क्षेत्रों में कोविड-19 के मरीज मिले हैं वहां पहले से कार्य कर रही फ्रंटलाइन वर्कर्स सिर्फ गर्भनिरोधक गोलियों और कंडोम का वितरण सुनिश्चित कराएंगी। अन्य क्षेत्रों में परिवार नियोजन संबंधित नसबंदी व अन्य सुविधाएं दी जाएंगी।