ग़ाज़ीपुर- प्रवासी गर्भवती, धात्री महिलाओं और बच्चों को भी मिलेगा पुष्टाहार

– पात्र महिलाओं और बच्चों को चिन्हित करने के लिए चल रहा सर्वे

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। कोविड-19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में किये गए लॉकडाउन के दौरान विभिन्न प्रदेशों से अपने गाँव लौटने वाली गर्भवती व धात्री महिलाओं और बच्चों को भी पुष्टाहार प्रदान किया जाएगा। इसके लिए बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा शासन के निर्देश पर 1 जून से सर्वे कर ऐसी महिलाओं और बच्चों को चिन्हित करने का कार्य शुरू कर दिया गया है, जिसमें अब तक 277 गर्भवती व धात्री महिलाएं , 476 कुपोषित बच्चों (6 माह से 6 वर्ष तक) को विभाग की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से चिन्हित किया गया है। इन सभी को विभाग की तरफ से चलने वाली पोषण मिशन के अंतर्गत पुष्टाहार वितरण का कार्य किया जाएगा।
जिला कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) दिलीप कुमार पांडे ने बताया कि शासन से मिले निर्देश के क्रम में विभिन्न प्रदेशों से आई गर्भवती महिलाएं व कुपोषित बच्चों को चिन्हित करने का पत्र प्राप्त हुआ था। जिसके लिए जनपद की 4118 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से 277 गर्भवती महिलाएं व 476 कुपोषित बच्चों को चयनित किया गया है, जिन्हें पोषण मिशन के तहत पुष्टाहार का वितरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अब तक चिन्हित किए हुए लाभार्थियों में 19 गर्भवती महिलाएं व 25 बच्चों को पुष्टाहार का वितरण किया गया है। यह पुष्टाहार पूर्व में चयनित लाभार्थियों का पुष्टाहार था जो अपने बताए गए पते पर निवास न कर किसी अन्य जगह निवास करते हैं। उनका लाभ इन लोगों को दिया गया है। डीओपी ने बताया कि सर्वे का कार्य 1 जून से निरंतर चल रहा है ऐसे में यह संख्या और भी बढ़ सकती है। पुष्टाहार की मांग शासन को भेजी जा रही है और पुष्टाहार मिलते ही गर्भवती माताओं को एक माह के 3 पैकेट और बच्चों में एक माह में एक पैकेट का वितरण किया जाएगा।