ग़ाज़ीपुर- आपसी सहयोग से बीस साल पहले मिली लावारिस बच्ची का विवाह धूमधाम से कराया गया संपन्न

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। करण्डा के ब्राह्मणपुरा गांव में आपसी सहयोग से बीस साल पहले मिली नवजात लावारिस बच्ची का विवाह धूमधाम से संपन्न कराया। बतादें कि नवरात्र के दिनों में गांव के सिवान में फेकी गयी लावारिस बच्ची को स्थानीय गांव निवासी गुप्ता परिवार ने पाला पोसा है। इस लावारिस बच्ची का नाम नवरात्र में मिलने की वजह से दुर्गा रखा गया। बच्ची मिलने के बाद गांव वालों ने गुप्ता परिवार से कहा था कि तुम इसका पालन पोषण करो विवाह के समय पूरा गांव इस बच्ची के विवाह में सहयोग करेगा। गांव वालों ने अपना फर्ज बखूबी से निभाते हुए दुर्गा के विवाह के दौरान बेड, बिस्तर, टीबी, पंखा, साड़ी, कपड़ा, गहना व बारातियों का स्वागत सत्कार करते हुए विवाह को गांव स्थित भोलेनाथ के मंदिर में सम्पन्न कराया। इस मौके पर पूर्वांचल युवा मोर्चा के अध्यक्ष राजकुमार पाण्डेय ने अपने तरफ से दुर्गा को बेड सिंगारदान आदि सहित हजारों के सामान उपहार स्वरूप प्रदान किए और अपना आशीर्वाद भी दिया। इस विवाह में मुख्य रूप से शशिकांत दुबे, बृजेश मिश्रा, वेद तिवारी, हरिद्वार गुप्ता, नीतीश दुबे, राजू दुबे, रमेश दुबे, चुन्नू दुबे व पंडित दिनेश मिश्रा सहित अन्य लोग मौजूद रहे।