ग़ाज़ीपुर- भारत चीन सिमा पर शहीद हुए जवानों को भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने दीपक जलाकर अर्पित की अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि

प्रखर ब्यूरो जखनियां/ग़ाज़ीपुर। भारत चीन सीमा के गलवा घाटी में दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प में भारतीय 20 जवानों के शहीद होने पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने गहरा दुख व्यक्त किया और शहीद सैनिकों को रामउग्रह पाण्डेय शहीद पार्क में दीपक जलाकर अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित किया। उक्त अवसर पर भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष प्रमोद वर्मा ने कहा चीन की नीति हमेशा विस्तार वादी रही है। विगत वर्षों से वह बार-बार भारत की सीमा में अतिक्रमण करने का प्रयास कर रहा है। पर हमारे जवान पूरी मुस्तैदी के साथ सीमा पर डटे हैं और चीन का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं, जिससे चीन बौखलाया हुआ है और गलवा घाटी पर दोनों सेनाओं के बीच बातचीत होने के बावजूद भी धोखे से चीन के सैनिकों ने फिर अपने पुरानी आदत को दोहराते हुए हमला किया। जिस हमले में हमारे निर्दोष जवानों शहीद हो गए। फिर भी भारतीय जवानों ने धैर्य का संयम देते हुए बिना किसी गोलाबारी के चीन के जवानों का डटकर मुकाबला किया और अपनी संख्या से दुगने जवानों को मार गिराया। यह हम लोगों के लिए अपने सेना पर गर्व की बात है। वर्मा ने कहा चीन हमेशा धोखा देता आया है। 1962 के युद्ध के पहले भी हिंदी चीनी भाई भाई का नारा लगाया और फिर भारत पर आक्रमण कर दिया। जबकि हमारा देश शांति का पुजारी है और कोई भी मामले का हल वह शांति से चाहता है। युद्ध हमारी नीयति में नहीं है और चीन को अब यह समझना होगा कि हमारा भारत 1962 का भारत नहीं है। यह नरेंद्र मोदी का बदलता हुआ भारत है। सीमाओं पर अपनी सेनाओं को खुली छूट दे रखी गई है कि अपनी तरफ से कोई पहले गोली चलाएगा नहीं, अगर दूसरी की तरफ से गोली चलती है तो अपनी तरफ से गोलियों का हिसाब भी नहीं किया जाएगा और दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। भारतीय सेनाओं ने वही किया। हमे अपनी सेना के सारे जवानों पर फक्र है। भारतीय जनता युवा मोर्चा उनको सैल्यूट करती है और सरकार पूरी तरह से उनके और उनके परिवार के साथ हैं। इस मौके पर भाजपा मंडल अध्यक्ष उमाशंकर यादव, इंद्रदेव कुशवाहा, उपाध्यक्ष शिवशंकर चौहान, महामंत्री धर्मवीर राजभर, प्रशांत सिंह, अंकित, सूरज खरवार, सत्यम चौबे, पंकज सिन्हा, दिनेश कुमार, संतोष सिंह, कवि भारद्वाज, गणेश वर्मा, अनीश सिंह, प्रमोद चौबे सहित प्रमुख लोग मौजूद रहें।