ग़ाज़ीपुर- राजपूत करणी सेना ने चीन के राष्ट्रपति व चीन सरकार का पूतला दहन कर शहीदों को अर्पित की श्रद्धांजलि

प्रखर ब्यूरो मरदह/ग़ाज़ीपुर। भारत-चीन सीमा पर हुए जवानों के शहादत पर सोमवार को गहरा दुखःव्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए श्री राजपूत करणी सेना गाजीपुर ने चीन के राष्ट्रपति व चीन सरकार का पूतला दहन कर स्थानीय बस स्टैंड स्थित डां. अम्बेडकर प्रतिमा के पास गाजीपुर-मऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर विरोध जाहिर करते हुए जमकर नारेबाजी किया तथा चीनी व चाइना से निर्मित सभी वस्तुओं के बहिष्कार का ऐलान करते हुए लोगों से अपील किया कि चीन को सबक सिखाने का सबसे आसान तरीका है घर बैठे ही उत्पादों उपयोग बंद करे, स्वदेशी अपनाएं और देश को मजबूर बनाएं। नारेबाजी करते हुए जिलाध्यक्ष वेदप्रकाश सिंह वेदू ने खुला ऐलान करते हुए भारत सरकार से निवेदन किया कि श्री राजपूत करणी सेना गाजीपुर चाइना चीन से लड़ने के लिए निस्वार्थ भाव से तैयार है। भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार अगर लड़ने के लिए बार्डर पर भेजना चाहती है तो हम लोग जाने के लिए भी तैयार है। उन्होंने आगे कहाँ कि करणी सेना भारत सरकार से बिना पैसे का निस्वार्थ भाव से देश सेवा करने के लिए तैयार हैं और निश्चय ही दुश्मनों का दांत खट्टे कर देंगे और एक एक सैनिक सर कटा देगा, मगर पीछे मुड़कर नहीं देखेगा। चीन के सैनिक कायराना हरकत करते हुए कथित रुप से 60 किलोमीटर तक भारतीय सीमा में घुसकर एलएसी की सीमा का खुलेआम उल्‍लंघन कर चुके हैं। इस घुसपैठ से चीन अपने सैनिकों को वापस हटाने के लिए बातचीत के रास्‍ते को अपनाने का ढोंग रच कर अचानक धोखे से भारतीय सीमा में भारतीय सैनिकों पर हमला कर 20 भारतीय सैनिकों सहित सेना के बड़े अधिकारी की हत्‍या कर दी है। जो काफी निंदनीय है। यह बर्दाश्त के काबिल नहीं हमें बदला चाहिए। इस मौके पर जिलाध्यक्ष वेदप्रकाश सिंह वेदू, धन्नू सिंह, मरदह ब्लॉक अध्यक्ष संदीप प्रताप सिंह पिन्टू, रानू सिंह जिला महामंत्री, पुष्कर सिंह जिला उपाध्यक्ष, दीपक सिंह, कौशल सिंह, प्रवीण सिंह, डब्लू सिंह, लालबाबू सिंह, विनय सिंह, दीपक सिंह, रविप्रताप सिंह आदि लोग मौजूद रहे।