ग़ाज़ीपुर- महिला उत्पीड़न की घटनाओं की समीक्षा/महिला जनसुनवाई कार्यक्रम हुआ सम्पन्न

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। सदस्य उ.प्र. राज्य महिला आयोग द्वारा महिला उत्पीड़न की रोकथाम एवं पीडित महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाए जाने तथा आवेदक आवेदिकाओं की सुगमता की दृष्टि से जनपद के लो.नि.विभाग गेस्ट हाउस के सभाकक्ष में गुरुवार को महिला उत्पीड़न की घटनाओं की समीक्षा/महिला जनसुनवाई का कार्यक्रम मीना चौबे की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। महिलाओ के उत्पीड़न में पति के छोड़ने, दुसरी शादी करने और घर ससुराल वालो द्वारा प्रताड़ित करने का संज्ञान आया, जिसमें लगभग 7 महिलाओं ने प्रतिभाग किया, जिसमें ज्यादा संख्या में पति द्वारा छोड़ने व दुसरी शादी कर रखने का प्रकरण सामने आया, जिसमें ज्यादा प्रकरण कोर्ट का मामला बताया गया। उन्होने पुलिस प्रशासन व अधिकारी से उनका सहयोग करने हेतु सदस्य ने महिलाओं के साथ हो रहे उत्पीड़न की समस्या का समाधान निकालने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होने उपस्थित विभाग के अधिकारियों एवं पुलिस विभाग को निर्देश दिया कि ऐसे प्रकरण संज्ञान में आते ही तत्काल कार्यवाही कर निस्तारण किया जाय। सदस्य द्वारा बताया गया कि 17 महीनो से लगातार विभिन्न जिलो में भ्रमण किया तथा बैकठ भी ली, जिसमें 1456 मामले अभी तक सामने आये लगभग 834 मामलो का निस्तारण किया गया, जो कोर्ट में नही है। उन्होने बताया कि महिलाओ से उत्पीड़न के मामलो को दोनो पक्षो को बुलाकर समझाकर निस्तारण किया गया। यदि किसी व्यक्ति को लगता है कि उसके साथ गलत हो रहा है, उनपर एफआईआर दर्ज करके गिरफ्तारी भी होती है तथा कार्यवाही भी होती है। इसका उद्वेश्य किसी तरह से महिलाओं को सहायता मिले और उनमे निराशा का भाव न जगे। प्रताड़ित लोगो के मन का भाव दूर करने के लिए हर जिलो में महिला जनसुनवाई की जा रही है। आशा ज्योति केन्द्र एंव रेक्यूववैन  शहरो एवं ग्रामीणो में अच्छी चल रही है। बैठक मे प्रोवेशन, पुलिस एवं अन्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।