ग़ाज़ीपुर- सत्संगियों द्वारा आयोजित किया गया भजन, कीर्तन, सत्संग व अमृतवाणी कार्यक्रम

प्रखर ब्यूरो मरदह/ग़ाज़ीपुर। स्थानीय कुशवाहा बस्ती के मंज़य मौर्य के आवास पर बेलसङी धाम के सत्संगियों ने भजन कीर्तन, सत्संग व अमृतवाणी कार्यक्रम को आयोजित किया। धाम के महंत बाल योगी महेश दास ने श्रद्धालुओं को जीवन के उपर उपदेश देते हुए कहा कि मानव सेवा ही सभी धर्मों का सार तत्व है। मानव सेवा से बढ़कर कर जीवन में कोई पुनीत कार्य नहीं है। ब्रह्म तो धरती के कण-कण में विराजमान हैं। हम सभी एक ईश्वर की संतान है। ईश्वर जङ और चेतन सभी जगह मौजूद हैं, जरूरत है कि हम इस नश्वर शरीर को पात्र बनाएं ताकि ईश्वरत्व का सद्रुण रूपी जल उसमें इकठ्ठा हो सके। आज समाज को आडंबर और पाखंड से मुक्ति दिलाने का समय है। बेलसङी धाम मानवता में भगवत्ता का उपदेश देता है। मनुष्य जीवन में सिर्फ सत्य एक है, वह मृत्यु बाकि सब माया जाल है। मनुष्य का जीवन बहुत अनमोल है, जिसे व्यक्ति को परोपकार में लगाना चाहिए, जिससे जीवन मार्ग सुखमय रहे। इस अवसर पर आयोजित विशाल भण्डारेे में सैकड़ों कि संख्या श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण कर महंत महेश दास से आर्शीवाद लिया।
इस मौके पर अवधेश दास, ग्राम प्रधान रामबचन यादव, संजय मौर्या, अशोक मौर्य, लल्लन राजभर, ओमप्रकाश मौर्य, हरिनाथ मौर्य, जवाहिर गुप्ता, मुन्नीलाल दास, धर्मेन्द्र दास, विन्धाचल दास, गिरीश दास, नंदलाल दास, चन्द्रदेव दास, रामदेव दास, सदाफल दास, धर्मेन्द्र दास आदि लोग मौजूद रहे।