गाजीपुर- मोबाइल गायब होने के विवाद में पीट पीटकर हुई थी सिपाही लाल की हत्या

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। थाना जमानिया क्षेत्र अंतर्गत हुई 21 जनवरी को युवक की हत्या का अनावरण आज दिन बुधवार को कचहरी स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पुलिस अधीक्षक द्वारा पत्रकार वार्ता के दौरान किया गया।
जमानिया थाना अंतर्गत 21 जनवरी को इलाइचीपुर डिग्री नहर पुलिया के पास एक व्यक्ति का शव होने की सूचना पुलिस को मिली थी, जिसके चेहरे व शरीर पर चोट के निशान थे। शव के शिनाख्त के उपरांत मृतक के भतीजे द्वारा दो नामजद व कुछ अज्ञात के विरुद्ध तहरीर दी गई। इस संबंध में थाना जमानियां पर मुकदमा संख्या 21/2020 धारा 302/201 भादवि पंजीकृत कर विवेचना की जा रही थी। घटना में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस अधीक्षक द्वारा सख्त निर्देश दिए गए थे। जिसके क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के पर्यवेक्षण में व क्षेत्राधिकारी जमानिया के नेतृत्व में थाना जमानिया में पुलिस टीम गठित की गई। घटना स्थल के निरीक्षण पर मिले कुछ साक्ष्यों व लोगों से पूछताछ करके इसको विकसित किया गया। सुरागरसी पतारसी के जरिए घटना में शामिल एक अभियुक्त मनोहर यादव पुत्र स्व. चंद्रिका यादव निवासी अहिरान टोला, वार्ड नंबर 9, जमानिया रेलवे स्टेशन को थाना जमानियां पुलिस द्वारा 29 जनवरी को ग्राम मलता के पास से गिरफ्तार किया गया। पुलिस द्वारा अभियुक्त की निशानदेही पर आला कत्ल में प्रयुक्त वस्तू व शव को छिपाने के लिए की गई मोटरसाइकिल बरामद की गई। पूछताछ के दौरान अभियुक्त द्वारा बताया गया कि हम लोग बैठकर शराब पी रहे थे। पीने के दौरान ही साथ में बैठे एक व्यक्ति मनोहर का मोबाइल गायब हो गया। मोबाइल गायब होने के विवाद को लेकर आपस में कहासुनी होने लगी तथा मनोहर ने मृतक सिपाही लाल पर चोरी का आरोप लगाते हुए मारपीट शुरू कर दी। मारपीट के दौरान मेरे द्वारा ही बांस के डंडे से उसके सर पर वार किया गया, जिससे उसका सिर फट गया और खून निकलने लगा। अत्यधिक खून निकलने से सिपाही लाल की मृत्यु हो गई। जब हम लोगों को एहसास हो गया कि सिपाही लाल की मृत्यु हो गई है तो शव को छिपाने के लिए मोटरसाइकिल पर बैठाकर अन्य अभियुक्तों की मदद से डिग्री इलायची नहर के पास शव को फेंक दिया गया। पुलिस द्वारा हत्या का एक अभियुक्त मनोहर यादव पुत्र स्वर्गीय चंद्रिका यादव निवासी अहिरान टोला, वार्ड नंबर 9 जमानिया रेलवे स्टेशन थाना जमानिया गाजीपुर को गिरफ्तार किया गया व कत्ल में प्रयुक्त डंडा और शव को छिपाने में उपयोग की गई मोटरसाइकिल को भी बरामद किया गया। गिरफ्तारी करने वाली टीम में राजीव कुमार सिंह प्रभारी निरीक्षक थाना जमानिया, उप निरीक्षक सुनील कुमार तिवारी, कांस्टेबल सुधीर सिंह, कांस्टेबल विपिन कुमार तिवारी आदि शामिल थे।