ग़ाज़ीपुर- नागरिक संशोधन अधिनियम सीएए के समर्थन में लोगों का स्वेच्छा से मिस्ड कॉल के जरिये जन समर्थन जुटाने में लगे भाजपा कार्यकर्ता

प्रखर ब्यूरो जखनिया/ग़ाज़ीपुर। भाजपा के कार्यकर्ताओं ने आज दिन मंगलवार को नागरिक संशोधन अधिनियम सीएए के समर्थन में 88 662 88 662 पर मिस्ड कॉल कर लोगों का स्वेच्छा से जन समर्थन जुटाया। उक्त अवसर पर भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष प्रमोद वर्मा ने कहा हर देश की सरकार अपनी सुरक्षा को प्राथमिकता देती हैं और जो भी अपने भाई बंधुओं कहीं भी रहते हैं अगर उनके ऊपर कोई प्रताड़ना होती है तो उसकी सहायता करती है, प्राथमिकता देती हैं वो चाहे इजरायल हो, अमेरिका हो, जापान हो, रूस हो, ब्रिटेन हो अगर कहीं भी उनके नागरिकों के ऊपर अत्याचार होता है, तो यह शक्तिशाली देश प्राथमिकता से उनकी सुरक्षा और सहायता करते हैं। अगर वही काम आज भारत भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में करने जा रहा है तो समझ में ही नहीं आ रहा है विपक्ष को क्या समस्या है। क्या विपक्ष यह चाहता है कि देश सुरक्षित ना रहे, अपने भाई बन्धु प्रताड़ित होते रहे, उनके ऊपर अत्याचार होता रहे? पूरे देश में विरोधी दलों ने अराजकता का माहौल खड़ा कर रखा है, देश के भाई – चारे को बिगाड़ने का प्रयास कर रहा है। जबकि सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि सीएए पड़ोसी देशों से धर्म के नाम पर आए प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए है, देश के किसी भी धर्म संप्रदाय के व्यक्ति की नागरिकता लेने के लिए नहीं हैं। विपक्ष ने एक सोची-समझी साजिश के तहत इस कानून के खिलाफ अफवाह फैलाया है, जिसका परिणाम अब सामने आने लगा है। जगह-जगह देश को तोड़ने वाले चेहरे उजागर हो रहे हैं। जैसा कि प्रधानमंत्री जी ने कहा कि शाहीन बाग का प्रदर्शन एक संजोग नहीं सोची समझी प्रयोग हैं। क्योंकि कांग्रेस शुरू से ही फूट डालो राज करो और राज करने के लिए देश का बंटवारा भी हो जाए तो कोई फर्क नहीं पड़ता ऐसी नीति पर रही है। जिसका परिणाम आजादी के बाद से लोगो के सामने हैं। पर अब देश के लोग जाग गए हैं और यह कत्तई नही बर्दाश्त किया जाएगा कि धर्म संप्रदाय के नाम पर इस देश को कोई विभक्त कर सकें। भाजपा कार्यकर्ताओं ने लोगों से अपील किया कि अधिक से अधिक लोग इस नंबर पर मिस्ड कॉल करके देश को सुरक्षित रखने के लिए अपने समाज के प्रताड़ित लोगों को नागरिकता देने के लिए जन समर्थन करें।
इस मौके पर भाजपा मंडल अध्यक्ष उमाशंकर यादव, आईटी के प्रशांत सिंह, महामंत्री धर्मवीर भारद्वाज, सूरज खरवार, सत्यम चौबे, शिव शंकर चौहान, पवन सिन्हा, पंकज कुमार, ओम प्रकाश दूबे सहित प्रमुख लोग उपस्थित रहे।