ग़ाज़ीपुर- धोखाधड़ी कर ऑनलाइन पैसा निकालने वाला अभियुक्त हुआ गिरफ्तार

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जमानियां पुलिस ने धोखाधड़ी कर ऑनलाइन पैसा निकालने वाले एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया है। इसकी जानकारी शनिवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेस वार्ता कर पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ओम प्रकाश सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि 5 फरवरी को सौरव जायसवाल पुत्र दाऊजी जयसवाल निवासी जमानिया रेलवे स्टेशन ने जमानियां पुलिस से बताया कि मेरे जानकारी के बिना किसी अनजान व्यक्ति द्वारा हमारे खाता से 2 और 3 फरवरी को 8 बार में ₹190000 निकाल लिया गया है। वादी की तहरीर पर जमानियां थाने में मुकदमा पंजीकृत किया गया, जिसमें प्रभारी निरीक्षक जमानियां द्वारा विवेचना की जा रही थी। विवेचना के दौरान साइबर सेल की मदद से पता चला कि पैसा मोवीक्विक यूपीआई से निकाला गया है। डिजिटल साक्ष्य से पता चला कि पैसा ट्रांसफर करने के दौरान मोबाइल पर ओटीपी आया होगा, जिस पर वादी सौरव जायसवाल से पूछा गया तो उसने बताया कि हमारे खाते से संबंधित रजिस्टर्ड नंबर बंद हो गया है। मोबाइल नंबर के बारे में पता लगाया गया तो मालूम हुआ कि वादी के पिता के नाम पर जनपद वाराणसी में भगवती कम्युनिकेशन दुकान से 30 जनवरी को दूसरा सिम लिया गया था। जब वहां के सीसीटीवी फुटेज को वादी को दिखाया गया तो वादी ने अभियुक्त को पहचान लिया और बताया कि यह व्यक्ति जमानियां का रहने वाला है और रेलवे स्टेशन के पास इसकी मोबाइल की दुकान है। जिस पर प्रभारी निरीक्षक जमानियां ने अभियुक्त राजेश गुप्ता निवासी पटखौलीया को उसके दुकान से शुक्रवार की शाम गिरफ्तार कर लिया। अभियुक्त ने पूछताछ के दौरान बताया कि हमने पैसा निकाला है, अभियुक्त की निशानदेही पर अभियुक्त के घर से ₹173000 नगद बरामद किया गया। अभियुक्त ने बताया कि वादी के पिता के आधार कार्ड का मैंने चोरी से फोटो कॉपी कर लिया था और मेरे द्वारा यूपी पुलिस के लॉस्ट आर्टिकल ऐप पर सिम की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कर दूसरा सिम प्राप्त कर लिया गया था। अभियुक्त को गिरफ्तार करने वाली टीम में उप निरीक्षक मंसाराम गुप्ता सहित उप निरीक्षक सुनील तिवारी एवं अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे।