ग़ाज़ीपुर- जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के बारे में दी जानकारी

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना को लेकर जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य ने रविवार को अपने आवास पर पत्रकारों के साथ प्रेस वार्ता की। प्रेसवार्ता के दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के सभी लाभार्थी को मिशन मोड में 8 फरवरी 2020 से 15 दिनों के विशेष अभियान के दौरान किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा प्रदान करने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के सभी लाभार्थियों का बैंक खाता खुला हुआ है और आधार सभी बैंकों के पास है। इसीलिए केंद्र सरकार ने सभी लाभार्थियों का केसीसी ऑटो मोड में स्वीकृत कर दिया है। किसानों को केवल ऋण सीमा तय करवाने के लिए बैंक शाखा पर जाकर एक पन्ने का फार्म व अपने खसरा, खतौनी और पैदा की जाने वाली फसल का विवरण जमा करके अपने बैंक शाखा से सस्ती दर पर कृषि ऋण का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। किसानों को यह भी घोषणा करना होगा कि उन्होंने किसी अन्य जगह से केसीसी ऋण नहीं लिया है। पीएम किसान लाभार्थी के लिए इंडियन बैंक एसोसिएशन द्वारा एक पन्ने का विशेष आवेदन पत्र जारी किया गया है जो www.agricoop.gov.in एवं www.pmkisan.gov.on पर भी उपलब्ध है। आवेदन की सुविधा जन सेवा केंद्र पर भी उपलब्ध होगी। यह एक पन्ने का विशेष प्रारूप केवल पीएम किसान लाभार्थियों के लिए ही मान्य है। इस एक पन्ने के प्रारूप में वांछित सूचना प्रदान करने पर 1.6 लाख तक की ऋण सीमा वाले लाभार्थियों को तुरंत केसीसी प्रदान किया जाना है। भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग के नियमों के अनुसार लाभार्थियों को आवेदन करने के पश्चात 14 दिनों के अंदर केसीसी प्राप्त हो जाना चाहिए। यदि ऋण सीमा 1.6 लाख से ज्यादा है तो अन्य औपचारिकताएं पूरी करने पर ऋण सीमा स्वीकृत हो जाएगी। इंडियन बैंक एसोसिएशन ने 3.0 तक के केसीसी ऋण पर लगने वाले सभी प्रकार जैसे की डॉक्यूमेंटेशन, निरीक्षण, लेजर फोलियो एवं अन्य सेवा प्रभार माफ कर दिए हैं। इसके साथ ही जिन पीएम किसान लाभार्थियों का किसान क्रेडिट कार्ड बना हुआ है वह अपना लिमिट बढ़ाने के लिए तथा निष्क्रिय किसान क्रेडिट कार्ड खाता धारक उसे सक्रिय कराने या नई किसान क्रेडिट कार्ड जारी कराने हेतु अपनी बैंक शाखा से संपर्क कर सकते हैं। इसी के साथ जो किसान कृषि हेतु किसान क्रेडिट कार्ड ले चुके हैं और वह पशुपालन एवं मत्स्य पालन कर रहे हैं, वह भी इन कार्यों हेतु किसान क्रेडिट कार्ड का आवेदन कर सकते हैं। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए बैंकों के मुख्यालयों ने अपनी सभी शाखाओं को उन किसानों की सूची उपलब्ध करा दिया है, जो प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के लाभार्थी हैं लेकिन केसीसी से वंचित हैं। बैंक शाखाएं यह सूची सभी लोगों के साथ साझा करेंगे, जिससे सभी किसानों को प्रेरित किया जा सके। किसानों को यह सूचना प्रधानमंत्री किसान योजना के पोर्टल से भी एवमं एसएमएस से भी उनके मोबाइल पर आएगी। गाजीपुर में 7 फरवरी 2020 तक प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के कुल लाभार्थियों की संख्या चार लाख 14420 है। अग्रणी जिला प्रबंधक के कार्यालय से प्राप्त सूचना के अनुसार 31 दिसंबर 2019 तक बैंकों द्वारा कुल 167354 केसीसी जारी किए गए हैं। इस प्रकार इस अभियान के माध्यम से कुल 247066 किसानों को अभी भी केसीसी जारी किया जाना बाकी है। बैंकों को उचित दिशा निर्देश देने एवं इसकी समीक्षा के लिए जिला समन्वय समिति की एक विशेष बैठक 11 फरवरी को राइफल क्लब सभागार में आहूत की गई है। वित्त मंत्रालय का वित्तीय सेवाएं विभाग और सभी बैंकों के कार्यकारी निदेशक अपने स्तर पर क्रियान्वयन को मॉनिटर कर रहे हैं, यदि किसी किसान को कोई समस्या है तो वह इसकी शिकायत जिला अग्रणी प्रबंधक के कार्यालय में लिखित रूप में कर सकता है और शिकायत की प्रति पर प्राप्ति ले सकता है। यह सभी शिकायत बैंक वार उनके कार्यकारी निदेशकों के संज्ञान में लाकर त्वरित कार्रवाई की जाएगी।