ग़ाज़ीपुर- धरना प्रदर्शन की सफलता के लिए कर्मचारियों ने बनाई रणनीति

– 16 सूत्रीय मांगों को लेकर शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ आंदोलन पर अडिग
– 11 अप्रैल को अधिवेशन कराने का हुआ निर्णय

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। पुरानी पेंशन बहाली सहित 16 सूत्रीय मांगों के लिए 16 मार्च को प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित धरना प्रदर्शन की सफलता के लिए माध्यमिक शिक्षणेत्तर संघ जिला इकाई की बैठक जिला अध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में रविवार को आरटीआई परिसर में हुई। जिलाध्यक्ष अरुण कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि जल्द उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वह उग्र धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे। शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की मांगों को विभाग द्वारा माना नहीं जा रहा है। कई बार शासन स्तर पर और उच्चाधिकारियों को इसके लिए ज्ञापन सौंपा जा चुका है। उन्होंने कहा कि योग्यताधारी शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की एलटी ग्रेड में शिक्षक के पदों पर पदोन्नति की जाए। इसके अलावा सेवानिवृत्त पर राजकीय कर्मचारी के समान अर्जित अवकाश का नकदीकरण किया जाए। इसके अलावा शासन द्वारा लिपिक एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की नियुक्ति से रोक हटाई जाए। वही जिलामंत्री राकेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि शिक्षणेत्तर कर्मचारियों का कॉलेजों में उत्पीड़न किया जाता है। कई बार इसके लिए गुहार लगाई जा चुकी है, किंतु समस्या आज भी जस की तस है। उन्होंने कहा कि यदि कर्मचारियों का उत्पीड़न नहीं रूका तो पूरे प्रदेश में उग्र आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार कर्मचारियों की पुरानी पेंशन योजना को बहाल करे। शिक्षणेत्तर कर्मचारियों से धरना प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की गई। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षणेत्तर संघ का वार्षिक अधिवेशन, चुनाव भी 11 अप्रैल को कराने का निर्णय लिया गया। जिलामंत्री राकेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि अधिवेशन और चुनाव का आयोजन हनुमान सिंह इंटर कॉलेज देवकली में होगा। इस दौरान शपथ ग्रहण व सम्मान समारोह के साथ ही विचार गोष्ठी भी की जाएगी। इस दौरान अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों से शिक्षणेत्तर कर्मी के रूप में सेवानिवृत्त हो चुके साथियों को सम्मानित किया जाएगा। वही कैलाश नाथ सिंह को मण्डल अध्यक्ष मनोनीत होने पर जिला इकाई के पदाधिकारियों द्वारा सम्मानित किया गया।
बैठक में रमेश सिंह यादव, ओंकार लाल, परमेश यादव, विशाल राय, अमित पांडे, संतोष कुमार पांडे, जएम कुमार, रामाधार यादव, रंजीत सिंह कुशवाहा, अश्वनी नारायण राय, पुनीत कुमार, पराग कुमार श्रीवास्तव, यज्ञेश कुमार, विश्वजीत यादव, परमेश्वर यादव, वंशराज सिंह, ज्ञानेंद्र सिंह, अब्दुल कासिम, राम अवध सिंह यादव आदि उपस्थित रहे।