ग़ाज़ीपुर- जिलाधिकारी के निर्देश पर 3 दिनों में 10 हजार से अधिक लोगों का बना गोल्डन कार्ड

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। प्रधानमंत्री के द्वारा गरीब और असहाय लोगों को निशुल्क इलाज के लिए आयुष्मान भारत योजना की सौगात आमजन को दी जा रही है, जिसमें ₹5 लाख तक का निशुल्क इलाज का प्रावधान है। इसके लिए लाभार्थी परिवार को गोल्डन कार्ड बनवा कर इलाज कराने का प्रावधान है। जनपद गाजीपुर में गोल्डन कार्ड बनाए जाने की धीमी गति को देखते हुए जिलाधिकारी ने 12 फरवरी को जनपद के समस्त ग्राम प्रधान और सेक्रेटरी की बैठक कर गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए जन सहभागिता का अनुरोध किया गया। जिसको लेकर जनपद में इन दिनों गोल्डन कार्ड बनाए जाने की गति में तेजी आ गई है। एसीएमओ डॉ. डी.पी. सिन्हा ने बताया कि जनपद में कुल 1.12 लाख आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं, जबकि मुख्यमंत्री जन आरोग्य के 11915 लाभार्थी है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर 14 फरवरी से 18 फरवरी तक विशेष गोल्डन कार्ड कैंप का आयोजन जनपद के 67 गांव में किया जा रहा है, जिसमें 3 दिनों में अब तक 10740 कार्ड बनाए जा चुके हैं। वही कुल 97054 गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जी.सी. मौर्य ने बताया कि जनपद में कुल 34 सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना का लाभ दिया जा रहा है, जिसके माध्यम से अब तक 2867 लोगों ने इसका लाभ उठाया है। साथ ही उन्होंने बताया कि गोल्डन कार्ड बनाए जाने के अगले क्रम में 100 गांव को चिन्हित किया जा चुका है। जहां 24, 25 और 26 फरवरी को जिलाधिकारी के निर्देश पर कैंप लगाया जाएगा, जिसके लिए विभाग के द्वारा माइक्रो प्लान तैयार किया जा रहा है। इसके पूर्व इस कैंप को लेकर आशा, आगनबाडी और इन 100 गांव के ग्राम प्रधानों की एक संयुक्त बैठक कर गोल्डन कार्ड बनवाने में जन सहभागिता निभाने की बात की जाएगी।