ग़ाज़ीपुर- धान खरीदारी शुरू करने की आश्वासन के साथ जूस पिलाकर समाप्त कराया गया धरना

प्रखर ब्यूरो सेवराई/ग़ाज़ीपुर। किसान नेता भानु प्रताप सिंह के द्वारा किसानों की विभिन्न सूत्रीय मांगों के समाधान ना होने पर दूसरे दिन आमरण अनशन किया गया। देर शाम डिप्टी आरएमओ और उप जिलाधिकारी के मौजूदगी में लंबी बातचीत के बाद शनिवार से धान खरीदारी शुरू करने की आश्वासन के साथ जूस पिलाकर धरना समाप्त कराया गया।
गौरतलब हो कि सेवराई के दर्जनों किसानों के बारह सौ कुंटल से अधिक धान की खरीदारी अभी शेष है, जिसे जल्द से जल्द पूरी करने के साथ तत्काल भुगतान, पूर्व में किसानों द्वारा लिए गए धान का भुगतान करने, सेवराई, मनिया, भदौरा क्रयकेंद्र एजेंसी एवं दिलदारनगर मंडी समिति एसपी भारती की तत्काल जांच करवाने आदि सहित विभिन्न मांगों के तहत गुरुवार से धरनारत थे। मांगे पूरी ना होने पर शुक्रवार सुबह से ही किसान नेता भानु प्रताप सिंह ने आमरण अनशन शुरू कर दिया। सूचना मिलने पर शुक्रवार को हिंदू क्षत्रिय महासभा के जिलाअध्यक्ष राजकुमार सिंह ने धरना स्थल पर पहुंच धरना को समर्थन देते हुए उच्चाधिकारियों से किसानों की समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए जल्द से जल्द निस्तारण की मांग की। इस दौरान गांव केे दर्जनों किसान सुबह से ही धरना प्रदर्शन में डटे रहे। किसानों ने अधिकारियों के हिला हवाली और बिचौलियों के साथ मिलीभगत कर लाखों रुपए गबन का गंभीर आरोप भी लगाया। देर शाम करीब 5 बजे घंटों चली बातचीत और अनुनय विनय के बाद डिप्टी आरएमओ रतन शुक्ला, उप जिलाधिकारी सेवराई विक्रम सिंह की मौजूदगी में किसानों को शनिवार से खरीदारी शुरू करने के आश्वासन के साथ जूस पिलाते हुए आमरण अनशन और धरना प्रदर्शन को समाप्त कराया। इस दौरान किसानों ने गैर मिल संचालक को भी मिलीभगत कर 12000 कुंटल धान देने और कमीशन खोरी की बात कही। किसान नेता भानु प्रताप सिंह ने बताया कि खंड शिक्षा अधिकारी भदौरा सुदामा राम पर भ्रष्टाचार आरोप सिद्ध होने और स्थानांतरण होने के बावजूद भदौरा ब्लाक पर जमे हुए हैं। उन्होंने उच्च अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए उनके स्थानांतरण की मांग की।
इस मौके पर मुन्ना सिंह, मधुसूदन सिंह, अरबिंद सिंह, महेंद्र सिंह, अरुण सिंह, ब्रम्हदेव सिंह, राजगृह सिंह, विकास, सच्चितानंद सिंह, वशिष्ठ सिंह, मोती कुशवाहा, विशेश्वर सिंह, लल्लन सिंह, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि सेवराई हरि जी सिंह आदि किसान मौजूद रहे।