ग़ाज़ीपुर- महज शो पीस बनकर रह गया है करोड़ों रुपए की लागत से बना पानी का टंकी

प्रखर ब्यूरो भीमापार/ग़ाज़ीपुर। सरकार जहाँ एक तरफ लोगों को समय पर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में करोड़ों रुपए की लागत से पानी की टंकी बना रही है ताकि लोगों तक आसानी से शुद्ध पीने का पानी उपलब्ध हो सके, लेकिन विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों की लापरवाही के चलते इसका भरपूर लाभ नहीं मिल पा रहा है। इसके चलते पानी टंकी महज शो पीस बनकर रह गई है। इसके चलते आमजन दूषित पानी पीने को मजबूर है।
भीमापार बाजार के पश्चिमी छोर पर नीर निर्मल परियोजना द्वारा निर्मित पानी टंकी जो एक करोड़ अन्ठानबे लाख रुपये की लागत से बनी है, जिसकी कुल छमता 250 किलोलीटर की है, साथ ही इसके निर्माण के दौरान घर-घर तक पानी पहुंचे इसके लिए 13.119 कि.मी. पाईप लाईन बिछी हुई है। लापरवाही का नमूना तो यह है कि हजारों की आबादी वाले इस विशाल गांव मे अभी तक मात्र 400 लोगों को पेयजल कनेक्शन दिये गए हैं, जबकि लक्ष्य 650 लोगों को कनेक्शन देने का है। लोगों ने बताया कि जो पाईप लाईन बिछी हुई है उसमे जगह-जगह लिकेज होने से काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। समय से शुद्ध पानी उपलब्ध नहीं होने से दूषित पानी पीने को मजबूर हैं। लेकिन विभाग मौन साधे है। वहीं ग्राम प्रधान चन्द्र सुरेश यादव ने कहा कि करोड़ों रूपये की लागत से बनी पानी टंकी अधिकारियों की उदासीनता के कारण उक्त पानी टंकी शो-पीस बनकर रह गई है। ग्राम प्रधान ने बताया कि विभाग के द्वारा आज तक पानी टंकी हैन्डोभर नहीं की गई। वहीं प्रधान के द्वारा खंड विकास अधिकारी सादात को ग्राम सभा द्वारा लिखित रूप से दिया गया कि ग्राम सभा पानी की टंकी का संचालन नहीं करेगी। विभाग के द्वारा आज तक पानी टंकी पर किसी कर्मचारी की नियुक्त न होने के कारण पानी टंकी से पानी की सप्लाई करीब चार माह से बन्द है, जबकि इस समय गर्मी सुरु हो गई है। वहीं इस सम्बन्ध मे सहायक अभियंता इन्द्रजीत ने बताया कि पानी की सप्लाई ठेकेदार के द्वारा सुचारू रूप से चलाया जा रहा था। इधर कब से बन्द है इसकी जानकारी नहीं है। कुछ दिन पहले कहीं कहीं लिकेज की समस्या थी उसे ठीक करा दिया गया है। पानी की टंकी चालू कराकर जल्द ही लोगों को शुद्ध पेयजल आपूर्ति की जायेगी। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि जब से पानी टंकी का निर्माण हुआ है तब से आज तक सुचारू रूप से पानी की सप्लाई नहीं हुई और जिन लोगों का कनेक्शन हो गया है, उन्हें बिल भी जमा करना पड़ रहा है। लोगों ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द पानी की सप्लाई शुरू नहीं किया गया तो लोग धरना प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होंगे।