ग़ाज़ीपुर- जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला उद्योग बन्धु एवं स्वरोजगार बन्धु की बैठक हुई सम्पन्न

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। जिला उद्योग बन्धु एवं स्वरोजगार बन्धु की बैठक बुधवार को राईफल क्लब सभागार मे जिलाधिकारी ओम प्रकाश आर्य की अध्यक्षता मे सम्पन्न हुआ। बैठक में विद्युत प्रवाह स्वीकृति हेतु लम्बित मामलो में अधिशासी अभियन्ता विद्युत ने बताया कि विद्युत वितरण खण्ड प्रथम, द्वितीय तृतीय एंव चतुर्थ द्वारा दूरभाष पर अवगत कराया गया कि माह फरवरी में प्राप्त सभी आवेदन पत्रों का विद्युत भार स्वीकृत कर दिया गया है। राजकीय औद्योगिक सँस्थान नन्दगंज मे स्वतन्त्र फीडर की स्थापना के सम्बन्ध मे सभी औपचारिकताएं पूर्ण कर ली गयी है। अधिशासी अभियन्ता विद्युत द्वारा बताया गया कि ठेकेदार को ट्रान्सफार्मर का पैसा दे दिया गया है और एक सप्ताह के अन्दर ट्रास्फार्मर लगाकर विद्युत प्रवाह कर दिया जायेगा। एक जनपद एक उत्पाद योजनान्तर्गत प्राप्त लक्ष्य 40 के सापेक्ष 97 आवेदन पत्र विभिन्न बैंक शाखाओं मे प्रेषित है, जिसमे से 24 आवेदन पत्र स्वीकृत एवं 19 वितरित है। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम में प्राप्त लक्ष्य 56 के सापेक्ष 275 आवेदन पत्र विभिन्न बैक शाखाओ में आनलाईन अग्रसारित किया गया है, जिसमें 62 आवेदन पत्र आनलाईन स्वीकृत तथा 42 वितरित है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजनान्तर्गत भौतिक लक्ष्य लक्ष्य 158 एवं वित्तीय लक्ष्य 153.26 के सापेक्ष 345 आवेदन पत्र विभिन्न बैंक शाखाओं मे प्रेषित किया गया है, जिसमे भौतिक स्वीकृति 63 एवं वित्तीय स्वीकृति रू0 172.50 लाख है। बैठक मे स्टार्टअप योजना मे प्रचार प्रसार करने का निर्देश दिया, जिससे लोगो को अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त हो सके। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोगगार योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, स्वतः रोजगार योजना, एवं अन्य बिन्दुओं की समीक्षा की गयी तथा उद्योगो के विकास में बैंको से अधिकाधिक सहयोग प्राप्त किये जाने के सम्बन्ध मे जिला अग्रणी प्रबंधक से अपेक्षा की। बैठक में उपस्थित उद्यमी वशिष्ठ सिंह यादव ने अपना विद्युत बिल टाईम डेट पर जमा करने के बाद भी उस पर दिये जाने वाले एक प्रतिशत छूट तथा पूरा पैसा देने के बाद भी बिल लंबित होने की शिकायत की। उद्यमी सत्य प्रकाश द्वारा राईस मिल में मीटर जलने की शिकायत करने के बाद भी विभाग द्वारा मीटर नही बदले जाने की शिकायत की गई, जिसपर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए उद्यमियो की समस्यो का स्थलीय निरीक्षण करते हुए निस्तारण कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने बिना एनओसी के चल रहे ईट भट्ठो को चिन्हित करते हुए कार्यवाही का निर्देश दिया अन्यथा सम्बन्धित अधिकारी पर कार्यवाही निश्चित है।
बैठक में उद्योग विभाग के एसीआई अजय कुमार, जिला अग्रणी प्रबन्धक, उपायुक्त उद्योग, खादी एवं ग्रामोद्योग अधिकारी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, प्रमुख  उद्यमी बशिष्ठ सिंह यादव, जय किशुन साहू, अनिल सिंह, राम जी, संजय सिंह, बृजेश यादव, सत्य प्रकाश यादव के अतिरिक्त अन्य उद्यमी एवं सम्बन्धित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।