ग़ाज़ीपुर- विवाहिता का फांसी के फंदे पर लटकता मिला शव, पति समेत दो पुलिस गिरफ्त में

प्रखर ब्यूरो बिरनो/गाजीपुर। बिरनो थाना क्षेत्र के कियरिया (नसीरपुर) गांव में विवाहिता पूनम यादव (26) का शव कमरे में शुक्रवार की सुबह फांसी के फंदे पर लटकता मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने के साथ छानबीन शुरू कर दी। जानकारी मिलते ही रोते-बिलखते मायके पक्ष के लोग थाने पहुंचे और मृतिका के पिता श्यामनारायण यादव ने लड़की के पति शैलेश यादव, ससुर पलटू यादव, सास चिंतामणि, देवर शिशुपाल यादव और ननद शकुंतला देवी पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर पति शैलेश यादव, ससुर पलटू यादव और सास चिन्तामणि देवी को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी। इधर मृतिका के मायके वाले लोगों को जब जानकारी मिली तो कोहराम मच गया। गांव के सैकड़ो लोग थाने पहुच गए। मृतिका की माँ सोनमती देवी का रो रो कर बुरा हाल था। मृतिका पूनम की एक तीन साल की पुत्री पायल भी है। मायके पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया कि पति शैलेश यादव व ससुर पलटू यादव द्वारा दहेज के रूप में पैसा व कार की मांग की जा रही थी। फिलहाल पुलिस मुकदमा दर्जकर पति समेत 3 लोगों को गिरफ्तार कर पूछताछ में जुटी हुई है।
बताते चले कि पूनम का मायके बिरनो थाना क्षेत्र के बनकटा गांव में था। मृतिका के भाई शिवकुमार यादव ने बताया कि शैलेश का किसी लड़की से अबैध सम्बन्ध था और बार बार मेरी बहन को छोड़ने और दूसरी शादी करने के लिए ससुराल वाले दबाव बना रहे थे। मृतिका की एक तीन वर्ष की पुत्री भी है। अब उसकी परवरिश कैसे होगी इसकी चर्चा करके लोग मायूस हो जा रहे थे। मृतिका पूनम की सादी 29 नवम्बर 2014 को कियरिया गांव निवासी शैलेश यादव से हुई थी। मृतिका के पिता श्यामनारायण यादव ने बताया कि सादी के बाद से ही कई बार दहेज के रुपये की मांग ससुराल के लोगों द्वारा किया गया और समय समय पर उसे मृतिका के पिता ने रुपये भी दिया।