ग़ाज़ीपुर- सपा जिला कार्यकारिणी की मासिक बैठक हुई सम्पन्न

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। समाजवादी पार्टी की जिला कार्यकारिणी की मासिक बैठक शनिवार को पार्टी कार्यालय लोहिया भवन पर जिलाध्यक्ष रामधारी यादव की अध्यक्षता में संपन्न हुई। इस बैठक में स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी के विधान परिषद के चुनाव पर चर्चा हुई और पार्टी प्रत्याशी को विजयी बनाने की रणनीति बनाई गई। बैठक में वक्ताओं ने‌ आवारा पशुओं से हो‌ रहे फसलों के नुक़सान पर भी चिंता व्यक्त की। इसके साथ साथ बैठक में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा चलाए जा रहे मतदाता पुनरीक्षण कार्यक्रम पर भी चर्चा हुई और इस कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं से अपने बूथों पर सक्रिय होकर इस काम में बढ़ चढ़ कर लगने की अपील की गई। जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने सभी कार्यकर्ताओं से संगठन के कामों को गंभीरता से लेने की हिदायत दी और कहा कार्यकर्ता अपने सम्मान की चिंता न करें, पार्टी को उनके सम्मान की चिंता है, उन्होंने विधान परिषद के चुनाव को गंभीरता से लेने का‌ निर्देश दिया और कहा कि यह चुनाव भाजपा की तानाशाही और साम्प्रदायिक सरकार को सबक सिखाने और उस पर अंकुश लगाने का अच्छा मौका है। उन्होंने कहा कि आज किसान दुर्दशा ग्रस्त हैं, भाजपा सरकार किसानों की आय तो‌ दुगुनी नहीं कर पायी लेकिन डीजल, खाद, बिजली और बीज के‌ दामो में बढ़ोतरी कर उसकी फसल का लागत मूल्य दुगूना जरूर कर दिया। उन्होंने कहा कि आज देश गंभीर आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है, आज जनता का बैंक में रक्खा पैसा भी सुरक्षित नहीं है। बैंकों में कैश नहीं है, एटीएम खाली है। जनता बैंकों में अपना रखा पैसा भी नहीं निकाल पा रही‌ है और भाजपा झूठे आदर्श और विकास का ढिंढोरा पीट रही है। पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा ने कहा कि भाजपा सरकार संविधान द्वारा प्रदत्त नागरिकों के लोकतांत्रिक अधिकारों पर कुठाराघात कर रही है, इस सरकार का लोकतंत्र पर विश्वास नहीं है, इस सरकार ने तानाशाही रूख अख्तियार कर रखा है।
इस बैठक में मुख्य रूप से पूर्व जिलाध्यक्ष सुदर्शन यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, जैकिशन साहू, बच्चा यादव, जिला पंचायत प्रतिनिधि विजय यादव, निजामुद्दीन खां, अशोक बिन्द, मन्नू सिंह, अरुण कुमार श्रीवास्तव, रामाधार यादव, बजरंगी यादव, रामवचन प्रधान, राजेश कुमार यादव, सच्चेलाल यादव, रविन्द्र यादव, दिनेश यादव, चन्द्रेश्वर यादव, सीमा यादव, आस्था खानम, बृजदेव खरवार, तहसीन अहमद, आजाद राय, रणजीत यादव, जैहिन्द‌यादव, परशुराम बिंद, राजेंद्र यादव, रामयश यादव, चन्द्रिका यादव, कमलेश यादव, श्याम नारायन यादव, डॉ. समीर सिंह, अभिनव सिंह, शाह रहमान, अरुण कुशवाहा, बलिराम यादव, रामाशीष, रमेश सोनकर, आलोक सिंह, संदीप यादव आदि उपस्थित थे। बैठक का संचालन कन्हैयालाल विश्वकर्मा ने किया।