ग़ाज़ीपुर- सत्ता में बैठी भाजपा सरकार का रवैया किसानों के संकट की इस घड़ी में पूर्णतया संवेदनहीन बना हुआ है- सपा जिलाध्यक्ष

प्रखर ब्यूरो ग़ाज़ीपुर। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने पार्टी कार्यालय पर आये कार्यकर्ताओं के द्वारा क्षेत्र में हुई असमय बरसात और ओलावृष्टि से हुए किसानों के नुक़सान की जानकारी होने पर अत्यंत दुख व्यक्त किया। इस दौरान उन्होंने वर्तमान सरकार को घेरते हुए कहा कि जनपद में हुई असमय वर्षा और ओलावृष्टि से किसानों की अच्छी उपज होने का सपना चूर चूर हो गया है। किसानों का सम्पूर्ण जीवन चक्र उसकी होने वाली फसल के इर्द गिर्द घूमता है। ऐसे में जनपद के विभिन्न हिस्सों में जो प्राकृतिक आपदा आई है, उससे पूरी की पूरी ग्रामीण अर्थव्यवस्था चौपट हो गयी है। इस आपदा के चलते किसानों की चना, मटर, सरसों, गेंहू और आम की सैकड़ों हेक्टेयर फसल पर ओला पड़ गया है। अभी तक तो किसान आवारा पशुओं से हो रही फसलों के नुक़सान और लगातार बढ़ रहे बिजली, खाद, बीज, डीजल के दामों से ही चिंतित था, लेकिन आज हुई ओलावृष्टि से किसानों की कमर ही टूट गई है। किसानों की आय दुगुना करने का सरकार का दावा तो दम तोड़ ही चुका है साथ ही साथ किसानों का भाजपा सरकार पर से भरोसा पूरी तरह से उठ गया है। यह सबसे दुखद पहलू है कि सत्ता में बैठी भाजपा सरकार का रवैया किसानों के संकट की इस घड़ी में पूर्णतया संवेदनहीन बना हुआ है। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को प्रदेश के जिन जिन हिस्सों में ओलावृष्टि हुई है वँहा के किसानों के नुक़सान का आकलन कर उनकी अंतरिम मदद करना चाहिए। समाजवादी पार्टी गाजीपुर उत्तर प्रदेश सरकार से यह मांग करती है कि‌ वह उत्तर प्रदेश के जिन हिस्सों में ओलावृष्टि हुई है वँहा के किसानों के हुए नुक़सान का आकलन कर उनकी अंतरिम मदद करें।
इस दौरान पार्टी कार्यालय पर मुख्य रूप से निवर्तमान उपाध्यक्ष निजामुद्दीन खां, अशोक बिन्द, अरुण कुमार श्रीवास्तव, रामयश यादव, रामाशीष यादव, चन्द्रिका‌ यादव, सदानंद यादव, राजेश कुमार यादव, कन्हैयालाल विश्वकर्मा, रविन्द्र यादव, दिनेश यादव, बजरंगी यादव, डॉ. समीर सिंह, रामनगीना यादव, रामबदन यादव, विनोद यादव, चन्दन सिंह आदि उपस्थित थे।