ग़ाज़ीपुर- गरीबों के राशन पर अमीरों का डाका

प्रखर ब्यूरो मरदह/ग़ाज़ीपुर। गरीबों के राशन पर अमीरों का डाका पड़ रहा है ये कहना कहि से अनुचित नही। कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है मरदह ब्लाक के ग्राम सभा नोनरा में जँहा गरीबों के राशन पर अमीर डाका डाल रहे है। माननीय व्यक्तियों का राशन कार्ड बनने से राशन की खूब लूट नोनरा गांव में हो रही है। बड़े पैमाने पर खेती-बाड़ी होने व आर्थिक रूप से सम्पन्न व्यक्ति भी सरकारी राशन का लाभ उठा रहे हैं, जिनको इस राशन की कोई जरूरत नहीं है। गांव के गरीब, असहाय, निर्धन, मजदूर, जरूरतमंद लोग राशन के लिए तरस रहे हैं। जो पात्र व्यक्ति हैं उसे दिन भर की मजदूरी करने के बाद कहीं शाम को भोजन नसीब हो पाता है। गरीब और असहाय को ग्राम सभा के वोट बैंक की राजनीति का शिकार होने के कारण सरकारी राशन वर्षों से नसीब नहीं हो पा रहा। वह राशन के लिए तरस रहे हैं और दर दर भटक रहे हैं। वर्तमान ग्राम प्रधान प्रतिनिधि द्वारा उन व्यक्तियों का राशन कार्ड सूची से नाम काट दिया गया है, जिनको राशन की सख्त जरूरत हर महीने है। पात्र गृहस्थी राशन कार्ड में फेरबदल हो रहे हैं। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि से जिस भी व्यक्ति से तू-तू मैं-मैं होती है उसका विभाग से मिली भगत करके राशन कार्ड सूची से नाम काट दिया जाता है। फिर राशन कार्ड का रौब दिखाकर उनका मानसिक, आर्थिक, शारीरिक हनन व शोषण किया जा रहा। सरकार के आदेश के बाद भी गरीबों को राशन देने की मंशा को ग्राम सभा नोनरा में ठेंगा दिखाया जा रहा है। शासनादेश के बाद भी उन आदेश का खुलेआम धज्जियां खुद विभाग उङा रहा है। इस बात की जानकारी होने पर गांव के समाजसेवी संदीप प्रताप सिंह पिन्टू ने शनिवार को उप जिलाधिकारी कासिमाबाद रमेश मौर्य को शपथ पत्र के माध्यम से अवगत कराते हुए न्याय की गुहार लगाई है। जिसमें उन्होंने कहां कि पात्रों का चयन कर अपात्र व्यक्तियों का सूची से नाम निकाला जाए, जिससे सरकार के मंशानुसार गरीब और असहाय लोगों को सरकारी राशन नसीब हो सके।
इस सबंध में एसडीएम रमेश मौर्य ने बताया कि टीम गठित करके खुली बैठक के दौरान इस बात का सत्यापन किया जाएगा और इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ विधिक कारवाई की जाएंगी।