ग़ाज़ीपुर- ग्राम सभा के पट्टे की जमीन के विवाद को लेकर 2 गुट आमने-सामने

प्रखर ब्यूरो सेवराई/ग़ाज़ीपुर। गहमर थाना क्षेत्र के देवकली गांव में ग्राम सभा के पट्टे की जमीन के विवाद को लेकर रविवार को 2 गुट आमने-सामने हो गए। जिससे दोनों पक्ष के दर्जनों लोगों में तनाव हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने निर्माण कार्य रुकवा कर मामला शांत कराया।
गौरतलब हो कि देवकली मौजा के घोषवल के आराजी नंबर 282 रकबा 0.2530 हेक्टेयर परती भूमि को ग्राम प्रधान द्वारा गांव के 14 लोगों को आवंटित किया गया है। ग्रामीणों द्वारा इस मामले में विरोध जताते हुए कई बार उप जिलाधिकारी सेवराई को मनमाने तरीके से जमीन आवंटन की शिकायत की गई थी। लेकिन शिकायत के बाद भी कोई ठोस कार्रवाई ना होने के कारण लोगो में आक्रोश व्याप्त है। ग्रामीणों का आरोप है कि संबंधित अधिकारियों की मिलीभगत से लाखों रुपए लेनदेन करके मनमाने तरीके से अपात्र लोगों को जमीन आवंटन कर दिया गया है। आक्रोशित सैकड़ों ग्रामीण रविवार को एकजुट होकर उक्त भूमि पर निर्माण कार्य रुकवाने के लिए लामबंद हो गए। दोनों पक्षों के तरफ से तू तू मैं मैं के साथ बात हाथापाई तक पहुंच गई। मामला तूल पकड़ते देख सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने निर्माण कार्य रुकवाते हुए दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर शांत कराया। शिकायतकर्ता संयोग कुमार, अजय कुमार, प्रेम नारायण सिंह आदि ग्रामीणों का कहना है कि उक्त जमीन के पट्टा आवंटन में ग्राम प्रधान द्वारा उच्च अधिकारियों की मिलीभगत से संबंधित अपात्र पट्टेदारो से मोटी रकम वसूल कर मनमाने तरीके से आवंटित किया गया है। ग्राम प्रधान द्वारा कोई खुली बैठक नहीं कराई गई और ना ही किसी मीटिंग के तहत इस पर विचार विमर्श किया गया। ताड़ीघाट बारा मुख्य मार्ग के किनारे जमीन होने के कारण संबंधित लेखपाल, कानूनगो और अन्य अधिकारियों की मिलीभगत से मोटी रकम वसूल धन का बंदरबांट करते हुए धनाढ्य और अपात्र लोगों को पट्टा कर दिया गया है। लोगों ने चेताया कि अगर पट्टे की जमीन से अपात्र पट्टेधारियों द्वारा अवैध निर्माण कार्य नहीं हटाया गया तो गांव के सैकड़ों लोग एकजुट होकर तहसील मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे।
इस बाबत उप जिलाधिकारी विक्रम सिंह ने बताया कि ग्राम प्रधान द्वारा प्रस्ताव के तहत पट्टा आवंटन किया गया है। ग्रामीणों की शिकायत के सापेक्ष उक्त प्रकरण का जांच कराया जाएगा और जांच उपरांत न्यायोचित कार्रवाई की जाएगी।