ग़ाज़ीपुर- गांव में साफ सफाई ना होने के कारण आक्रोशित ग्रामीणों ने नारेबाजी के साथ किया धरना प्रदर्शन

प्रखर ब्यूरो मरदह/ग़ाज़ीपुर। गांव में वर्षो से सफाई नहीं होने पर सड़क पर उतरे ग्रामीण घंटों नारेबाजी करते हुए प्रर्दशन किया। एडीओ पंचायत के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए। ग्रामीणों का आरोप है कि स्वच्छता संदेश के अरमानो पर पानी फेर रहे तैनात सफाई कर्मचारी। विभाग ने चार कर्मचारी की जगह पर तीन महीने से दो कर्मचारी तैनात किए है, परन्तु वह सिर्फ एडीओ पंचायत कार्यालय का चक्कर लगा कर रफूचक्कर हो जाते हैं। ग्राम सभा में किसी भी वार्ड कि सफाई वर्षों से नहीं हुई। सबसे दयनीय स्थिति मरदह-कासीमाबाद रोड पर मुख्य बाजार का है। जहां नाले का पानी वर्षो से सड़क पर बह रहा है। कुड़ा लगने से गंदा पानी बाजार वासियों के घर के आगन में पहुँच जा रहा है। गंदे पानी से विषैला दुर्गंध निकल रहा, जिससे जन जीवन परेशान हैं। फिर भी कोई सूध लेने वाला नहीं। सड़क पर पानी व कुड़ा लगने के कारण स्थानीय दुकानदारों सहित दूर दराज से आने वाले व्यापारीयो का काफी नुकसान हो रहा। सड़क से हजारों कि संख्या में लोग आते जाते हैं जो मरदह ग्राम को कोशते नजर आ रहे हैं फिर भी विभागीय अधिकारियों व कर्मचारियों के उदासीनता का दंश झेल रहा है मरदह ग्राम सभा। केन्द्र व प्रदेश सरकार के महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन योजना का मरदह विकासखंड में कोई असर नहीं हुआ। बीडीओ, एडीओ, सचिव सब के नजर के सामने सब फीका है। इस बात को लेकर स्थानीय लोगों ने गंभीरता से महीनों पहले मुद्दा उठाया और खण्ड विकास अधिकारी व एडीओ पंचायत को बार बार ज्ञापन सौंप नाली नाले सार्वजनिक जगह की सफाई की मांग कि लेकिन फिर विभाग नहीं चेता तो नाली का पानी सड़क पर बहने से गुस्साए लोग सड़क पर उतर कर जमकर नारेबाजी करते हुए घंटों प्रर्दशन किया।
इस मौके पर रामू, शैलेन्द्र, विनोद कुमार जायसवाल, आकाश, राजकुमार, संजय, अंकुर सैनी, बबलू, गुडिया, मुन्नी, डिम्पी, माधुरी, मंजू,मुख्तार अहमद, सुभाष सैनी, इस्लाम अहमद, खुशी, कल्याणी, नारदमुनी वर्नवाल आदि मौजूद रहे।