वाराणसी के मात्र एक कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट फिर पॉजिटिव लेकिन परिवार की रिपोर्ट दोबारा नेगेटिव

अब तक वाराणसी में कुल 84 लोगों की हुई है सैंपल, जिसमें 77 की रिपोर्ट नेगेटिव है

प्रखर वाराणसी। वाराणसी के फूलपुर निवासी युवक की कोरोनावायरस होने के बाद उसका इलाज किया जा रहा है। जिसके बाद दोबारा उसके ब्लड का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया था, जिसमें फिर से उसकी ब्लड रिपोर्ट पॉसिटिव पाई गई है लेकिन राहत बड़ी खबर यह है कि उसके परिवार के सभी सदस्यों की कोरोना को लेकर दोबारा ब्लड सैंपल भेजा गया था, जिसमें फिर से उसके परिवार की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। साथ ही हॉस्पिटल का कहना है कि पॉजिटिव आने के बाद भी युवक की हालत ठीक है, जल्द ही उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आ सकती है। बताते चले कि पीड़ित मरीज को पांडेयपुर स्थित जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। निगरानी कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि युवक की हालत बेहतर है।
शुक्रवार को बीएचयू के आइसोलेशन वार्ड में चार और जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में दो नए संदिग्ध भर्ती हुए हैं। अब तक जिला अस्पताल में चार और बीएचयू में 12 मरीज भर्ती थे। इनमें निगेटिव रिपोर्ट आने पर बीएचयू के छह मरीजों को शुक्रवार को डिस्चार्ज कर दिया गया।
बतादे कि 17 मार्च को सऊदी अरब से फूलपुर निवासी युवक लौटा था। एक दिन घर पर रहने के बाद 19 मार्च को सर्दी व खांसी की शिकायत पर जांच कराने के लिए खुद पांडेयपुर स्थित पं दीनदयाल उपाध्याय, जिला अस्पताल पहुंचा था। यहां डॉक्टरों ने संदिग्ध मान उसके सैम्पल को जांच के लिए बीएचयू भेज दिया था। 21 मार्च को जांच रिपोर्ट में कोरोना पॉजीटिव मिलने के बाद जिला प्रशासन व स्वास्थ्य महकमा में हड़कम्प मच गया था। वही रात में ही उसके गांव को लॉक डाउन कर दिया गया। अगले दिन 22 मार्च को परिवार में पत्नी, मां, पिता, बेटा सहित दो रिश्तेदारों के भी सैम्पल लिए गए। वहीं, पूरे गांव की थर्मल स्क्रीनिंग भी करायी गयी। इस दौरान पास के दो और गांवों को भी लॉक डाउन कर दिया गया था। दो दिन बाद परिजनों की रिपोर्ट निगेटिव आने से गांव के लोगों ने राहत की सांस ली थी। प्रशासन ने नियमानुसार के मुताबिक 25 मार्च को पीड़ित के साथ ही उसके परिजनों की सैम्पलिंग कराकर जांच करायी। शुक्रवार को परिवारवालों की रिपोर्ट एक बार फिर निगेटिव आयी है। बताया जा रहा है कि अब तक कोराना वायरस का लेकर 84 सैंपलिंग हुई है। इनमें 77 निगेटिव हैं। एक पॉजिटिव मरीज का इलाज जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में चल रहा है। शुक्रवार को भर्ती हुए संदिग्धों में बनारस के हबीबपुरा का 23 साल का एक युवक, बीएचयू कैंपस की 28 वर्षीय युवती, कैंटोंमेंट का 38 वर्षीय पुरुष के अलावा चंदौली में चकिया की 60 साल की एक महिला, ज्ञानपुर का छह साल का बालक, सिकंदरपुर बलिया की 54 साल की एक महिला, जौनपुर का 35 साल का पुरुष शामिल है। जौनपुर के पुरुष मरीज की रिपोर्ट आनी बाकी है। बाकी छह को निगेटिव रिपोर्ट आने पर अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। दूसरी तरफ जिले में अब तक 41 हजार 852 लोगों की थर्मल स्कैनिंग हुई है। शुक्रवार को 10 लोगों को होम कोरेंटाइन किया गया। सभी की स्थिति सामान्य है। वहीं चिकित्सकों, पैरा मेडिकल की उपस्थिति, उपकरण, किट, मास्क आदि की उपलब्धता जानने के लिए सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने मिसिरपुर, आराजी लाइन, सेवापुरी, बड़ागांव, पिंडरा में सीएचसी व पीएचसी का निरीक्षण किया। इसके अलावा 22 क्षेत्रों में हुआ स्प्रे का छिड़काव स्वास्थ्य विभाग ने शहर के 22 क्षेत्रों में हाइपोक्लोराइड सोल्युशन और दो फीसदी ब्लिचिंग पाउडर का स्प्रे करवाया। 20 क्षेत्रों में एंटी लार्वा का छिड़काव व एक क्षेत्र में फॉगिंग की गई है।