कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच देवदूत की तरह लोगों के साथ खड़े हैं योगी भक्त मनीष राजपूत

प्रखर वाराणसी। पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुकी वैश्विक महामारी कोरोना ना आज पूरी दुनिया के लिए काल बन कर खड़ी हुई है। दिनोंदिन भयंकर काल की तरह लोगों की जिंदगियां निकल रही है। अभी तक इस बीमारी का कोई पुख्ता इलाज नहीं खोजा जा सकता है। अमेरिका जैसी महाशक्ति भी इस बीमारी के आगे घुटने टेक चुकी है। साथ ही भारत में भी इस बीमारी ने अपना परचम लहराना शुरू कर दिया है। ताजे आंकड़ों की बात करें तो भारत में करीब 7500 पॉजिटिव मरीजों की संख्या सामने आ चुकी है साथ ही मरने वालों की संख्या ढाई सौ के करीब पहुंचने वाली है। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों पर लोग बाहर निकल कर अपने यथासंभव लोगों एवं असहायो व गरीबों का सहयोग कर रहे हैं । इसी बीच वाराणसी के निवासी योगी आदित्यनाथ के परम भक्त और उनके अनुयाई मनीष राजपूत जो अपने को योगी भक्त भी कहते हैं। लोगों के बीच पहुंचकर उनका हर संभव सहयोग कर रहे हैं। बता दें कि मनीष राजपूत जब से लोक डाउन की घोषणा हुई है तब से लेकर अब तक निरंतर वाराणसी के जिलाधिकारी वाराणसी के एसएसपी अन्य अधिकारियों के साथ मिलजुल कर अपना श्रम सहयोग उन्हें देकर असहाय व निसहाय की सहायता देवदूत की तरह करते दिख रहे हैं। आए दिन वह पूरी तैयारी के साथ वाराणसी की गलियों क्षेत्रों में भूख से तड़प रहे लोगों को भोजन मुहैया कराना साथ ही अन्य सुविधाएं मुहैया कराना ही उनका कर्तव्य बन चुका है। वाराणसी के कई क्षेत्रों में मास्क का वितरण सैनिटाइजर का वितरण इत्यादि लोगों के साथ मिलजुल कर कर रहे हैं। इसके अलावा बता दे कि मनीष वाराणसी के आला अधिकारियों व कई विधायकों को पत्र लिखकर उनको यह सुझाव दिया है कि विभिन्न क्षेत्रों में छिड़काव व सैनिटाइजिंग इत्यादि का काम कराया जाए, जिससे इस महामारी से बचा जा सकता है। इस बाबत मनीष राजपूत से पूछने पर उन्होंने बताया कि मैं यह कार्य अपने परम आदरणीय उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर लोगों की सेवा कर रहा हूं और जब तक यह लाक डाउन रहेगा या लाक डाउन बढ़ेगा तब तक मैं निरंतर इसी भाव से ऐसे ही लोगों के बीच मौजूद रहूंगा। कोई भी मुझे किसी भी समय मेरे नंबर पर फोन करके किसी भी प्रकार की सहायता ले सकता है, जिसके लिए मैं 24 घंटे तक पर एवं तैयार रहूंगा। अंत में उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए सरकार ने जो आरोग्य सेतु एप्लीकेशन बनाया है, उसे सभी लोग गूगल के प्ले स्टोर से डाउनलोड करके अपने मोबाइल में इंस्टॉल कर लें। जिससे कोरोना वालो के संपर्क में आने से यह आरोग्य सेतु नामक एप्लीकेशन आपको आगाह कर देगा।