योगी भक्त मनीष राजपूत ने मुंबई के बांद्रा व यूपी के मुरादाबाद की घटना पर घोर निंदा की

इस तरह के कृत्य करने वालों पर सरकार सख्त कानून बनाये, जिससे भविष्य में ऐसा ना हो फिर- मनीष

प्रखर वाराणसी। वैश्विक महामारी कोरोना के बीच तरह- तरह की घटनाएं देखने को सामने मिल रही हैं। लोगों द्वारा डॉक्टरों, सफाई कर्मियों व पुलिसकर्मियों को मारना- पीटना आम हो गया है, क्योंकि इस समय कोरोना महामारी से डॉक्टर सफाई कर्मी पुलिसकर्मी यही लोग पूरी तरह से लड़ रहे हैं और इन्हीं के साथ इस तरह की निंदनीय घटना हो रही है। अभी पिछले दिनों इंदौर में एक विशेष समुदाय की बस्ती में पहुंचकर कोरोना संदिग्धों की जांच पड़ताल की जा रही थी कि इसी बीच भारी संख्या में लोग ईट- पत्थर से डॉक्टर पर हमला कर दिए। जिसमें कई डॉक्टर गंभीर रूप से घायल भी हो गए थे। जिसके बाद वहां की सरकार ने लोगों पर कड़ी कार्रवाई की थी। अभी इंदौर का मामला शांत नहीं हुआ था कि मंगलवार को यूपी के मुरादाबाद में कोरोना संदिग्ध मरीज की जांच करने पहुंची डॉक्टरों व एंबुलेंस की टीम पर विशेष समुदाय की बस्ती के लोगों ने हमला करके ईट- पत्थर चलाना शुरु कर दिया। जिसमें कई स्वास्थ्य कर्मी डॉक्टर बुरी तरह घायल हो गए। साथ ही एंबुलेंस गाड़ी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। इस सभी को लेकर वाराणसी में योगी भक्त के नाम से मशहूर समाजसेवी मनीष राजपूत में प्रखर पूर्वांचल से बातचीत में कहा कि मुरादाबाद में हुई इस घटना कि मैं घोर निंदा करता हूं। इन विशेष समुदाय के आपराधिक मानसिकता के लोगो पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इसके लिए मैं माननीय मुख्यमंत्री योगी जी से अपील करता हूं कि जिन लोगों पर एनएसए का कानून नहीं लगाया गया है, उन्हें भी चिन्हित करके उनके ऊपर एनएसए लगाकर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए। और ये जिहादी मानसिकता वाले लोग भारत में आतंक फैलाना चाहते हैं। अब इन लोगों के पास कोई और रास्ता नहीं दिख रहा तो कोरोना बम के रूप में आतंक फैलाना चाहते हैं। सरकार से मैं अपील करना चाहूंगा कि इनके ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाये और विशेष कानून बनाकर इन पर कड़ी सजा का प्रावधान किया जाएं। इसके अलावा मुंबई के बांद्रा में मंगलवार की शाम इकट्ठा हुए भारी संख्या में लोगों की भीड़ पर उन्होंने कहा कि यह लोग भी जेहादी मानसिकता के है। इस तरह की भीड़ सरकार को बदनाम व कोरोना जैसी महामारी में किए गए लॉक डाउन को खराब करने के लिए की जा रही है। इनलोगो के द्वारा ऐसा करके भारत को बर्बाद करने की साजिश है, इससे जुड़े लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। बता दे कि मनीष राजपूत आए दिन वैश्विक महामारी कोरोना के बीच सामाजिक रूप से लोगों को भोजन , पानी व दवाई इत्यादि तत्परता से उपलब्ध करा रहे हैं और लोगों का पूरी तरह सहयोग कर रहे हैं।