परिषदीय विद्यालयों में अब पढ़ाई होगी ऑनलाइन

वैश्विक महामारी कोरोना के बीच सरकार के निर्देश पर पढ़ाई की व्यवस्था ऑनलाइन की गई- बीएसए वाराणसी

प्रखर वाराणसी। सीबीएसई बोर्ड की तरह अब उत्तर प्रदेश में परिषदीय प्राथमिक विद्यालय व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में भी ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था शुरू की गई है। बता दें कि वैश्विक महामारी कोरोना के बीच भारत में लंबे समय से लॉक डाउन की प्रक्रिया चल रही है। जिसको देखते हुए उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन माध्यमों में यूट्यूब, व्हाट्सएप , ई-मेल व इत्यादि सोशल मीडिया माध्यमों से पढ़ाने की व्यवस्था शुरू की है। बता दें कि इस बाबत वाराणसी के बेसिक शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह ने बताया कि सरकार द्वारा निर्देशित किया गया है कि बच्चों को ऑनलाइन माध्यम से शिक्षा दी जाए। जिसकी वजह से उनका भविष्य खराब ना हो सके। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कक्षा 1 से लेकर 8 तथा 9 व 11 के बच्चों को बिना परीक्षा दिए ही अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया गया है। इसके लिए सरकार ने आदेश जारी किया, जिसके बाद यह फैसला लिया गया। उन्होंने आगे बताया कि ऑनलाइन माध्यम से व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाकर अध्यापकों को मैंने निर्देशित कर दिया है कि बच्चों के परिजनों का व्हाट्सएप नंबर लेकर व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ कर उन्हें होमवर्क इत्यादि देकर उनकी पढ़ाई पूरी कराई जाए, साथ ही उनकी अगर कोई समस्या हो तो उसे फोन पर सुलझाया जाए। इसके अलावा यूट्यूब पर वीडियो बनाकर बच्चों को पढ़ाने का भी कार्य किया जाए। साथ ही वाराणसी में बेसिक इनोवेटिव टीचर्स व्हाट्सएप ग्रुप इत्यादि के माध्यम से भी पढ़ाई की व्यवस्था की गई है। जिसके लिए अध्यापकों को निर्देशित किया गया है कि बच्चों को वीडियो कॉलिंग करके उनके सवालों का करे और वर्चुअल क्लासरूम व गूगल क्लासरूम की मदद भी ली जाए। इसके अलावा इस सभी कार्यों की मॉनिटरिंग मैं स्वयं भी कर रहा हूं और समय-समय पर अध्यापकों को अलग- अलग निर्देश भी दे रहा हूं। जिले के सभी सातों विकास खंडों में नोडल अधिकारियों की नियुक्ति भी कर दी गई है, जो इस पर मॉनिटरिंग करेंगे और इसकी विस्तृत सूचना मुझे व्हाट्सएप के माध्यम से उपलब्ध कराएंगे। जिससे यह देखा जा सकेगा की अध्यापक किस तरह से बच्चों को पढ़ा रहे हैं। और उनकी समस्याओं का निदान कर रहे हैं।