शहीद जवान अश्वनी यादव पंचतत्व में हुए विलीन

प्रखर ब्यूरो गाजीपुर। जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकी मुठभेड़ में शहीद सीआरपीएफ के जवान अश्वनी कुमार यादव का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा।नोनहरा थाना क्षेत्र के चकदाउद निवासी जवान का शव पहुंचते ही घर में रुदन-क्रंदन और पूरे इलाके में शोक की लहर दौड़ गई। बुधवार की दोपहर उनकी शव यात्रा निकाली गई। विभिन्न रास्तों से होकर यात्रा श्मशान घाट पर पहुंची। जहाँ पर राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान सीआरपीएफ के डीआईजी दर्शन लाल और आईजी सुभाष चंद्रा ने सलामी दी। हजारों लोगों ने गर्व के बीच नम आंखों से जनपद के इस जांबाज लाल को अंतिम विदाई दी। नोनहरा थाना क्षेत्र के चकदाउद गांव निवासी अश्वनी कुमार यादव जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में तैनात थे। जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए। इसकी सूचना मिलते ही शहीद के गांव में शोक की लहर दौड़ गई और शोक व्यक्त करने वालों का तांता लग गया। बुधवार को परिवार के साथ ही ग्रामीण शव आने का इंतजार करते रहे। गांव में शव पहुंचते ही परिजनों के रोने की आवाज सुनाई देने लगी।बुधवार को शहीद जवान के अंतिम दर्शन के लिए लोगों का समूह उमड़ पड़ा। दोपहर जवान का शव श्मशान घाट पर पहुंची। जहाँ पर जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य, पुलिस अधीक्षक डा.ओमप्रकाश सिंह, एसपी ग्रामीण चंद्र प्रकाश शुक्ला, राजेश सिंह व कई अधिकारियों सहित जनप्रतिनिधियों में सपा विधायक डॉ वीरेंद्र यादव, सपा जिला अध्यक्ष रामधारी यादव, पूर्व मंत्री सुधीर यादव, डॉ सानन्द सिंह, नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष विनोद अग्रवाल, पूर्व विधायक राजेंद्र यादव, रासबिहारी राय, अनिल वर्मा, विनोद कुशवाहा, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सुनील राम आदि लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद सीआरपीएफ के जवानों ने सलामी दी। शहीद जवान को मुखाग्नि शहीद के छोटे भाई मुलायम यादव ने दिया।