मुंबई से वाराणसी पहुंची श्रमिक एक्सप्रेस में जौनपुर के एक दिव्यांग व एक अन्य का शव मिला, हड़कंप

प्रखर वाराणसी। कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद सरकार प्रवासी श्रमिकों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है। बतादे कि वाराणसी के मंडुवाडीह पहुंची एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 2 लोगों की मौत हो गई। मरने वालों में जौनपुर निवासी एक दिव्यांग है। वहीं दूसरे शख्स की शिनाख्त पुलिस कर रही है। पता चला है कि ये शख्स अकेले सफर कर रहे थे। महाराष्ट्र में मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनल से वाराणसी पहुंची 01770 श्रमिक एक्सप्रेस ट्रेन में 2 श्रमिकों के शव बरामद हुए हैं। जानकारी होते ही रेलवे प्रशासन में हड़़कंप मच गया। एक व्यक्ति 30 वर्षीय दिव्यांग है, जो जौनपुर का दशरथ प्रजापति बताया जा रहा है। वहीं दूसरा 50 वर्षीय व्यक्ति है और उसकी पहचान नहीं हो पाई है। मौत की खबर सुनते ही रेलवे प्रशासन में हड़कंप मच गया।
बताया जा रहा है कि रेलवे की तरफ से दोनों शवों को बाहर निकालकर उनकी सेंपलिंग करवाई गई है। इसके साथ ही अज्ञात मृतक के परिजनों की तलाश की जा रही है। बताया जा रहा है कि दशरथ बीमार था और उसे रुककर इलाज कराने के लिए कहा गया था लेकिन वो नहीं माना. प्रयागराज स्टेशन पर उसकी मौत हो गई। सुबह 8 बजे जब ट्रेन वाराणसी पहुंची तो पता चला। बता दें कि 2 दिन पहले कैंट थाने पर मुंबई से आई एक ट्रेन में भी जौनपुर निवासी एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। इस बाबत स्टेशन अधीक्षक अरुण कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम की ओर से जांच की गई है। फ़िलहाल अभी मौत का कारण साफ़ नहीं हो सका है। दिव्यांग के साथ उसके परिजन भी थे लेकिन दूसरे मृतक के साथ कोई नहीं था इसलिए अभी उसकी पहचान नहीं हो पाई है।